Tuesday, May 17, 2022
-->
congress-counter-attacks-on-k-chandrashekhar-rao-says-kcr-era-ends-in-telangana

कांग्रेस ने किया पलटवार, बोली- तेलंगाना में 'केसीआर युग' का हुआ अंत

  • Updated on 9/6/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस ने गुरुवार को तेलंगाना में के. चंद्रशेखर राव द्वारा समयपूर्व विधानसभा भंग किये जाने को 'अलोकतांत्रिक कदम' करार दिया और कहा कि अब राज्य में‘केसीआर के युग’का अंत हो गया है। पार्टी के तेलंगाना प्रभारी रामचंद्र खूंटिया ने यह भी दावा किया कि राव ने यह कदम राज्य की जनता को गुमराह करने और अपनी नाकामियां छिपाने के लिए उठाया है। 

तेलंगाना विधानसभा भंग होने के बाद राहुल गांधी पर जमकर बरसे KCR

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, 'केसीआर ने कहा कि कांग्रेस चुनाव से डरी हुई है। ऐसा नहीं है। हम चुनाव से डरे नहीं हैं। हम चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार हैं। हम लड़ेंगे और जीतेंगे।' कांग्रेस नेता ने कहा, 'राज्य में कोई प्राकृतिक आपदा नहीं थी, सरकार भी अस्थिर नहीं थी। इसके बावजूद विधानसभा भंग की गई। यह अलोकतांत्रिक कदम है। यह जनता को गुमराह करने के लिए किया गया।'

दिल्ली मेट्रो किराए को लेकर केजरीवाल के वार पर हरदीप पुरी ने किया पलटवार

उन्होंने दावा किया, 'आज के फैसले के साथ ही तेलंगाना में केसीआर के युग का अंत हो गया है। उनके तानाशाही शासन का भी अंत हो गया है।' खूंटिया ने कहा, 'चंद्रशेखर राव अल्पसंख्यकों को आरक्षण देने, युवाओं को रोजगार देने और गरीबों को मकान देने में विफल रहे। अपनी नाकामियां छिपाने के लिए उन्होंने अलोकतांत्रिक फैसला किया है।'

समलैंगिकता पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद RSS के सुर पड़े ढीले  

पीएम मोदी और राव में हुई डील
तेलंगाना कांग्रेस के अध्यक्ष उत्तम रेड्डी ने कहा कि विकास को लेकर राव ने जो दावे किए वो पूरी तरह 'फर्जी' हैं और अब राज्य की जनता टीआरएस को मुंहतोड़ जवाब देगी। इस बीच, कांग्रेस की तेलंगाना इकाई के मुख्य प्रवक्ता सरवन दासोजू ने बताया, 'बहुत संघर्ष और बलिदान के बाद प्रदेश का गठन हुआ था। लोगों की विकास, किसानों और रोजगार के मुद्दों के हल के लिए व्यापक आशाएं थीं, लेकिन यह वादे पूरे नहीं हुए।'

तेलंगाना विधानसभा भंग करने की सिफारिश को राज्यपाल की मंजूरी, निगाहें EC पर

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राव के बीच हुआ एक ‘‘करार’’ है, क्योंकि अगर लोकसभा और राज्य विधानसभा के चुनाव एक साथ हुए तो यह राज्य में ‘‘राहुल गांधी बनाम मोदी की लड़ाई’’ में बदल जाएगा, जिससे कांग्रेस को फायदा होगा। 

तेलंगाना में जल्दी चुनाव कराने के कदम पर मुख्यमंत्री राव पर बरसा विपक्ष

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.