Monday, May 16, 2022
-->
congress declared 89 more candidates ajay kumar lallu lashed out at rpn singh rkdsnt

यूपी चुनाव : कांग्रेस ने 89 और उम्मीदवार घोषित किए, आरपीएन सिंह पर बरसे अजय लल्लू

  • Updated on 1/26/2022

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए बुधवार को 89 उम्मीदवारों की अपनी तीसरी सूची जारी की जिसमें 37 महिला उम्मीदवार शामिल हैं। पार्टी की ओर से जारी उम्मीदवारों की तीसरी सूची में भी पहली और दूसरी सूची की तरह महिलाओं की हिस्सेदारी 40 प्रतिशत है। कांग्रेस उत्तर प्रदेश में अब तक कुल 255 उम्मीदवार घोषित कर चुकी है जिसमें कुल 103 महिलाओं को टिकट दिया गया है। कांग्रेस की तीसरी सूची के मुताबिक, बेहट से पूनम काम्बोज, बिजनौर से अकबरी बेगम, नूरपुर से बालादेवी सैनी और हाथरस से सरोज देवी को टिकट दिया गया है। इनके अलावा कई और महिलाओं को भी उम्मीदवार बनाया गया है।  

प्रयाग रेलवे स्टेशन पर उपद्रव मामले में दो व्यक्ति गिरफ्तार, गया में ट्रेन में लगाई आग

इससे पहले पार्टी ने गत 20 जनवरी को 41 उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी की थी जिसमें 16 महिला उम्मीदवार शामिल थीं। इससे पहले, पार्टी ने 13 जनवरी को 125 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की थी और उसमें 50 महिलाओं को टिकट दिया गया था। कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश की पार्टी प्रभारी प्रियंका गांधी वाद्रा ने कुछ महीने पहले ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं’ अभियान की शुरुआत करते हुए घोषणा की थी कि विधानसभा चुनाव में 40 प्रतिशत टिकट महिलाओं को दिये जाएंगे। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव सात चरणों में होगा। पहले चरण का मतदान 10 फरवरी को और सातवें एवं अंतिम चरण का मतदान सात मार्च को होगा। 10 मार्च को परिणाम घोषित होंगे।

जयराम रमेश ने गुलाम नबी आजाद पर बुद्धदेव भट्टाचार्य को आधार बनाकर कसा तंज

आरपीएन सिंह पर बरसे अजय लल्लू 
कांग्रेस की उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हुए पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आरपीएन सिंह पर निशाना साधते हुए बुधवार को कहा कि उनके जैसे छोटी बिरादरी के व्यक्ति का प्रदेश अध्यक्ष बनना रास नहीं आने की वजह से उन्होंने (सिंह) पार्टी छोड़ दी। लल्लू ने यहां एक बयान में सिंह के मंगलवार को भाजपा में शामिल होने पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा, 'वह राजा-महाराजा हैं, उन्हें मेरे जैसे छोटी बिरादरी के गरीब आदमी का कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनना रास नहीं आ रहा था इसलिए उन्होंने पार्टी छोड़ दी।' 

परीक्षार्थियों के विरोध-प्रदर्शन पर रेल मंत्री बोले- शिकायतों का किया जाएगा समाधान


उन्होंने कहा कि यह नयी कांग्रेस है जिसमें संघर्ष करने वाले लोग ही रह सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश के जमीनी मुद्दों पर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाद्रा के साथ हजारों कार्यकर्ता जुटे रहे, लाठियां खाई, जेल गए, मुकदमे झेले और वह खुद कई बार जेल गये, लेकिन आरपीएन सिंह कभी सड़क पर नहीं दिखे।’’   लल्लू ने कहा, 'अब ये अफवाह फैलायी जा रही है कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भी जा रहे हैं लेकिन मेरे खून के हर कतरे पर कांग्रेस पार्टी का अहसान है जिसने एक गरीब घर के बेटे को प्रदेश अध्यक्ष बनाया। मैं मरते दम तक राहुल गांधी का सिपाही बना रहूंगा।' 

राहुल गांधी ने किया RRB परीक्षा के नियमों का विरोध कर रहे युवाओं का समर्थन

आरपीएन सिंह पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, '2013 में जब सिंह केंद्रीय गृह राज्यमंत्री थे, एक गरीब कांग्रेस कार्यकत्र्ता को तमकुही राज में पुलिस ने बुरी तरह मार-पीटा। जब मैंने इस घटना के विरोधस्वरूप आंदोलन शुरू किया, तो आरपीएन सिंह मुझ पर लगातार दबाव बनाते रहे कि आप लड़ाई मत लड़ो, संघर्ष मत करो, लेकिन मैंने लड़ाई लड़ी।' उन्होंने कहा, ‘‘2015 में समाजवादी पार्टी की सरकार में गन्ना किसानों के मुद्दे पर आंदोलन को लेकर वह जेल गए थे लेकिन आरपीएन सिंह न तो उनसे जेल में मिलने आए और न ही कोई आंदोलन किया।’’   

पद्म भूषण से सम्मानित गुलाम नबी आजाद ने राजनीतिक भविष्य पर दी सफाई

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.