Sunday, Oct 17, 2021
-->
congress demand first pm modi lagwai corona vaccine people will increase confidence prshnt

कोरोना: कांग्रेस नेता की मांग, सबसे पहले PM मोदी लगवाएं वैक्सीन, लोगों में बढ़ेगा विश्वास

  • Updated on 1/4/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दुनिया भर में तेजी से कहर बरपा रहे कोरोना वायरस (Corona Vaccine) का संक्रमण अब भारत में अब थमने लगा है। यहां आए दिन मरीजों की संख्या में गिरावट आ रही है। वहीं देश में अब कोरोना वैक्सीन की मंजूरी के बाद सियासत तेज हो गई है। केंद्रीय मंत्री डा. हर्षवर्धन (Harsh Vardhan) द्वारा कोरोना वैक्सीन के वितरण को लेकर दी गई जानकारी के बाद विपक्ष सरकार पर हमलावर है। कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा ने सरकार से मांग की है कि रूस और अमेरिका के राष्ट्रपति की तरह ही देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बी कोरोना वैक्सीन का पहला टीका लगाएं।

अजीत शर्मा ने कहा कि जिस तरह से वैक्सीन को लेकर रूस और अमेरिका में जनता का भरोसा जीतने के लिए राष्ट्रपति ने पहला टीका खुद लिया था, वैसे ही देश के पीएम मोदी को भी कोरोना का पहला टीका लेना चाहिए जिससे जनता के बीच इसको लेकर विश्वास बढ़े।

कोरोना वैक्सीन बनाने वाला भारत बायोटेक बना चुका है जीका और चिकनगुनिया के लिए टीका

पीएम मोदी से वैक्सान लगवाने की मांग
अजीत शर्मा ने आगे कहा कि पीएम मेदी के साथ ही बीजेपी के वरिष्ठ नेता भी कोरोना का टीका सबसे पहले लें इससे लोगों के बीच वैक्सीन को लेकर विश्वास बढ़ेगा। उन्होंने कहा, नए साल में दो वैक्सीन का आना खुशी की बात है लेकिन इसको लेकर लोगों के बीच विस्वास की कमी है ऐसे में विश्वास लाने के लिए जिस तरीके से रूस और अमेरिका के राष्ट्रपति ने पहला टीका लेकर लोगों को विश्वास में लिया है, वैसी ही पीएम मोदी और बीजेपी के सबसे वरिष्ठ नेता को पहला टीका लेकर लोगों का विश्वास जीतना चाहिए।

भारत में बन रही हैं ये Corona Vaccine, जानें कौन है किस लेवल पर, देखें पूरी लिस्ट यहां....

बीजेपी पर लगे आरोप
कांग्रेस नेता का आरोप है कि बीजेपी वैक्सीन का श्रेय लेने की कोशिश कर रही है। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक, जिन दो कंपनियों ने कोरोना का वैक्सीन तैयार कर लिया है, ये दोनों कंपनियां कांग्रेस के जमाने में ही स्थापित हुई थी। उन्होंने कहा कि वैक्सीन के आने के बाद बीजेपी इसका क्षेय ले रही है, लेकिन इसका क्षेय कांग्रेस को भी मिलना चाहिए, जिन्होंने दोनों कंपनियों की स्थापना की।

राजस्थान: CM के सामने लगे 'सचिन पायलट जिंदाबाद' के नारे, भड़के गहलोत

अखिलेश यादव ने वैक्सीन लेने से किया इनकार
वहीं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने वैक्सीन लेने से इनकार कर दिया और कहा कि यह बीजेपी की वैक्सीन है। इसलिए वे अपना वैक्सीनेशन नहीं कराएंगे। दरअसल ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने प्रतिबंधित आपातकालीन उपयोग के लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की वैक्सीन 'कोविश‌िल्ड' और भारत बायोटेक के 'कोवाक्सिन' को मंजूरी दे दी है।

ऐसे में  केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि एक गंभीर मुद्दे का राजनीतिकरण करना बेहद अपमानजनक और निंदनीय है।बता दें कि देश में कोरोना के दो वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद से ही राजनीति गलियारों में हलचल बढ़ गई है।

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.