Thursday, Mar 21, 2019

केजरीवाल के बाद कांग्रेस ने शिवपाल का तोड़ा दिल, कुछ इस तरह बयां किया अपना दर्द

  • Updated on 3/15/2019

नई दिल्ली/टीम डिजियल। लोकसभा चुनाव में सभी पार्टियां गठबंधन की जुगत में हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद्र केजरीवाल ने भी कांग्रेस से गठबंधन की पहल की थी लेकिन उनके हाथ निराशा लगी। जिसके बाद से वह कांग्रेस को कोसते आ रहे हैं और यह आरोप लगाते हैं कि कांग्रेस भाजपा को जिताना चाहती है। 

उधर, उत्तर प्रदेश की राजनीति का माहौल भी कुछ इसी तरह का है। पहले समाजवादी पार्टी से अलग हुए मुलायम सिंह यादव के भाई शिवपाल सिंह ने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का गठन किया। दूसरी तरफ यूपी के विधानसभा चुनाव में करारी हार से सबक लेते हुए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लोकसभा चुनाव में बहुजन समाजवादी पार्टी की अध्यक्ष मायावती से गठबंधन कर लिया और बराबर-बराबर सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया।

ऐसे में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने भी विचार बना रखा था कि वह कांग्रेस के साथ हाथ मिलाकर चुनावी मैदान में उतरेंगे। लेकिन उनका भी हाल अब केजरीवाल की तरह ही हो गया है। कांग्रेस पार्टी ने शिवपाल की पार्टी से गठबंधन करने से मना दिया है जिसके बाद से शिवपाल काफी निराश हैं। उन्होंने भी गठबंधन नहीं होने पर कांग्रेस को आड़े हाथ लिया और जमकर हमला बोला है।

झूठे हैं कांग्रेसी नेता
शिवपाल सिंह यादव ने अपना दर्द जाहिर करते हुए कहा कि पिछले एक महिने से हम कांग्रेस का इंतजार कर रहे थे और लगातार दोनों पार्टियों के नेताओं की मुलाकात जारी थी। लेकिन कांग्रेस ने धोका देते हुए बीच में ही सूची जारी कर दी। कांग्रेस के सभी नेता भी बाकि पार्टियों के नेताओं की तरह ही झूठे निकले। 

हाल ही में शिवपाल से जब गठबंधन के बारे में पूछा गया था तो उन्होंने कहा था कि हम दूसरे अन्य धर्मनिरपेक्ष दलों के साथ मिलकर गठबंधन बनाने जा रहे हैं। उन्होंने दावा किया था कि कांग्रेस भी उनके साथ गठबंधन करने के लिए तैयार हैं लेकिन उनकी उम्मीदों पर कांग्रेस ने पानी फेर दिया। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.