Monday, Aug 10, 2020

Live Updates: Unlock 3- Day 10

Last Updated: Mon Aug 10 2020 03:01 PM

corona virus

Total Cases

2,217,649

Recovered

1,536,259

Deaths

44,499

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA515,332
  • TAMIL NADU296,901
  • ANDHRA PRADESH227,860
  • KARNATAKA178,087
  • NEW DELHI145,427
  • UTTAR PRADESH122,609
  • WEST BENGAL95,554
  • TELANGANA80,751
  • BIHAR79,720
  • GUJARAT71,064
  • ASSAM58,838
  • RAJASTHAN53,095
  • ODISHA47,455
  • HARYANA41,635
  • MADHYA PRADESH39,025
  • KERALA34,331
  • JAMMU & KASHMIR24,897
  • PUNJAB23,903
  • JHARKHAND18,156
  • CHHATTISGARH12,148
  • UTTARAKHAND9,732
  • GOA8,712
  • TRIPURA6,223
  • PUDUCHERRY5,382
  • MANIPUR3,753
  • HIMACHAL PRADESH3,375
  • NAGALAND2,781
  • ARUNACHAL PRADESH2,155
  • LADAKH1,688
  • DADRA AND NAGAR HAVELI1,555
  • CHANDIGARH1,515
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS1,490
  • MEGHALAYA1,062
  • SIKKIM866
  • DAMAN AND DIU838
  • MIZORAM620
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
congress digvijaya singh rahul gandhi priyanka gandhi aggressive stand pragnt

दिग्विजय सिंह ने कहा- जो राहुल- प्रियंका के आक्रामक रुख का समर्थन नहीं करते वे कांग्रेस छोड़ दें

  • Updated on 7/11/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह (Digvijaya Singh) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को लेकर नरम रुख रखने के पैरोकार पार्टी के कुछ नेताओं पर निशाना साधा और सवाल किया कि जो राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) के आक्रामक रुख की सराहना नहीं करते, वो कांग्रेस में क्यों हैं।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का भाजपा पर आरोप, सरकार गिराने के लिए हमारे विधायकों को दे रहे 15 करोड़

राहुल के विरोध में कोई भी नहीं
उन्होंने पार्टी के संगठन को फिर से खड़ा करने एवं मजबूत बनाने की पैरवी करते हुए राहुल गांधी से आग्रह किया कि वह दोबारा पार्टी की कमान संभालें। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, '2019 में राहुल गांधी प्रधानमंत्री मोदी के लिए वस्तुत: मुख्य चुनौती बनकर उभरे थे। उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष अथवा लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता के तौर पर पार्टी को खड़ा करने का काम जारी रखना चाहिए था। कांग्रेस में कोई भी उनके विरोध में नहीं है।'

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने किया राहुल से आग्रह, फिर से संभाले पार्टी की कमान

गांधी परिवार की सराहना नहीं करते तो कांग्रेस छोड़ दें
उन्होंने प्रधानमंत्री पर हमले से परहेज की पैरवी करने वाले कुछ कांग्रेस नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा, 'कांग्रेस में कौन लोग हैं जो प्रधानमंत्री मोदी को लेकर नरम रहने की पैरवी करते हैं? उनके पास यह साहस होना चाहिए कि वे पार्टी के भीतर अथवा सार्वजनिक तौर पर अपनी बात रखें।' सिंह ने कहा, 'मैं निजी तौर पर राहुल जी और प्रियंका जी के आक्रामक रुख का समर्थन करता हूं। वे भारत और उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय हित के मुद्दों को उठा रहे हैं। अगर कांग्रेस में कुछ नेता इसकी सराहना नहीं करते तो फिर वे कांग्रेस में क्यों हैं?'

मुख्यमंत्री ठाकरे से शरद पवार ने फिर की मुलाकात, अटकलों का बाजार गर्म

कांग्रेस नेताओं ने PM मोदी को लेकर कही थी ये बात
गौरतलब है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश और कुछ अन्य नेता समय-समय पर यह कह चुके हैं कि प्रधानमंत्री मोदी की निजी तौर पर अलोचना नहीं की जानी चाहिए। पिछले दिनों कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में पार्टी के एक राष्ट्रीय प्रवक्ता ने भी यही राय जाहिर की थी जिससे प्रियंका गांधी वाड्रा और कुछ अन्य नेताओं ने पुरजोर ढंग से असहमति जताई थी।

विकास दुबे एनकाउंटर : प्रियंका ने पूछा - मारे गए पुलिसकर्मियों के परिजन को कैसे मिलेगा न्याय?

चिदंबरम जेल जाने के बाद भी नहीं झुके
दिग्विजय सिंह ने कहा, 'मैं चिदंबरम जी की सराहना करता हूं कि मनगढंत आरोप में जेल जाने के बाद भी वह नहीं झुके।' सिंह के मुताबिक, कांग्रेस नेतृत्व को संगठन के निर्माण की चुनौती हाथ में लेनी चाहिए। यहीं पर हमें राहुल जी और प्रियंका जी के बहुआयामी नेतृत्व की जरूरत है। मुझे भरोसा है कि दोनों में यह दम और साहस है कि वे 'मोदी-शाह जोड़ी' का मुकाबला कर सकें।

मुकेश अंबानी बने दुनिया के 7वें सबसे अमीर व्यक्ति, वॉरेन बफे को छोड़ा पीछे

गांधी-नेहरू परिवार को नहीं धमका सकते मोदी-शाह
उन्होंने कहा, 'यह गलत धारणा है कि मोदी-शाह ईडी, आयकर और सीबीआई के जरिए गांधी-नेहरू परिवार को डरा-धमका सकते हैं। यह परिवार अंग्रेजों से निडर होकर लड़ा और वर्षों जेल में रहा। ये लोग बहुत बहादुर हैं। इसलिए मोदी-शाह जी किसी भ्रम में मत रहिए।'

कोरोना की गिरफ्त में असम! राज्य में फिर लगेगा संपूर्ण Lockdown

बुजुर्ग हों या नौजवान, सभी आपके साथ
कांग्रेस के पूर्व महासचिव ने कहा, 'यही पूरे मामले का सार है और यही सोनिया जी, राहुल जी और प्रियंका जी के समक्ष चुनौती है। मुझे यकीन है कि वे ऐसा करेंगे। पूरी कांग्रेस पार्टी, चाहे बुजुर्ग हों या नौजवान, सभी आपके पीछे खड़े हैं और आप लोग जो चाहेंगे वो कुर्बानी देने के लिए तैयार हैं। इसलिए राहुल जी, कृपया नेतृत्व करिए।'

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.