Sunday, May 31, 2020

Live Updates: 68th day of lockdown

Last Updated: Sun May 31 2020 09:47 AM

corona virus

Total Cases

182,143

Recovered

86,936

Deaths

5,185

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA65,168
  • TAMIL NADU21,184
  • NEW DELHI18,549
  • GUJARAT16,356
  • RAJASTHAN8,617
  • MADHYA PRADESH7,891
  • UTTAR PRADESH7,701
  • WEST BENGAL5,130
  • BIHAR3,565
  • ANDHRA PRADESH3,461
  • KARNATAKA2,922
  • TELANGANA2,499
  • JAMMU & KASHMIR2,341
  • PUNJAB2,233
  • HARYANA1,923
  • ODISHA1,819
  • ASSAM1,217
  • KERALA1,209
  • UTTARAKHAND749
  • JHARKHAND563
  • CHHATTISGARH447
  • HIMACHAL PRADESH313
  • CHANDIGARH289
  • TRIPURA254
  • GOA70
  • MANIPUR60
  • PUDUCHERRY57
  • NAGALAND36
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA27
  • ARUNACHAL PRADESH3
  • DADRA AND NAGAR HAVELI2
  • DAMAN AND DIU2
  • MIZORAM1
  • SIKKIM1
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
congress ghulam nabi aza attack on president ram nath kovind jammu kashmir growth

जम्मू-कश्मीर के विकास के दावे पर भड़की कांग्रेस, कहा- इससे घटिया मजाक नहीं हो सकता

  • Updated on 2/1/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस (Congress) और कई अन्य विपक्षी दलों ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि राष्ट्रपति के अभिभाषण में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का उपलब्धि के तौर पर उल्लेख शर्मनाक है और ऐसा करके सरकार ने राष्ट्रपति पद की गरिमा गिराई है। राजद, माकपा नेताओं की मौजूदगी में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने यह आरोप भी लगाया कि जम्मू-कश्मीर के बारे में गलतबयानी के लिए सरकार को माफी मांगनी चाहिए। बता दें कि बजट सत्र के पहले दिन संसद (Parliament) में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram nath Kovind) ने सीएए को ऐतिहासिक करार देते हुए कहा था कि इसने महात्मा गांधी के सपनों को पूरा किया है।

संसद ने संशोधित नागरिकता कानून बनाकर बापू की इच्छा पूरा की: राष्ट्रपति

सरकार ने जम्मू में विकास के दावे पर घटिया मजाक किया
राष्ट्रपति के भाषण पर आजाद ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, 'कश्मीर में UT बनाने के बाद उसे जिस तरह से बर्बाद किया, 6 महीने के बाद अब कुछ घंटों के लिए टेलिफोन खुलता है और सरकार राष्ट्रपति के भाषण में कहती है कि विकास हो रहा है। इससे घटिया मजाक देश और जम्मू-कश्मीर की जनता के साथ नहीं हो सकता।' उन्होंने आगे कहा, 'जहां रोटी खाने के लिए नहीं है, जहां सड़क पर काम करने वाला एक मजदूर नहीं देखा गया, जहां लाखों लोग बेरोजगार हो गए। वहां केंद्रीय कैबिनेट राष्ट्रपति के भाषण में कहती है ​कि वहां इन 6 महीनो में बड़ी प्रगति हुई है शर्म आनी चाहिए इस सरकार को ऐसा झूठ लिखने के लिए।'

बजट सत्र से पहले PM मोदी ने अर्थव्यवस्था के मुद्दों पर अच्छी चर्चा होने की जताई उम्मीद

अभिभाषण में CAA को उपलब्धि बताना शर्मनाक - विपक्ष
आजाद ने सीएए पर कहा, 'आज सुबह 14 राजनीतिक दलों के नेताओं ने महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने धरना दिया था और सभी ने अपनी अपनी बांह पर काली पट्टी बांध रखी थी। यह विरोध सीएए और एनआरसी को लेकर था।'

उन्होंने कहा, 'देश में कई हफ्तों से लोग सड़कों पर है। इसमें अलग धर्म और जातियों तथा सभी आयु वर्ग के लोग शामिल हैं। सवा महीने में कई हजार जुलूस निकले हैं। जहां भी भाजपा की सरकार हैं वहां कई लोगों की मौत हुई और कई लोग घायल हुए।' आजाद ने कहा, 'ऐसी स्थिति में जब पूरा देश नागरिकता कानून का विरोध कर रहा है तो ऐसे हालात में अफसोस की बात यह है कि इस कानून को राष्ट्रपति के अभिभाषण में सरकार ने अपनी उपलब्धि बताया है। यह बड़े शर्म की बात है।' उन्होंने दावा किया, 'अभिभाषण में कई पुरानी चीजें और कई बातों का तो कोई अर्थ ही नहीं है। महंगाई के बारे में कोई चर्चा नहीं है। जीडीपी और रुपये के गिरने की कोई चर्चा नहीं है।'

Budget 2020 से पहले सरकारी बैंक कर्मचारियों ने किया दो दिन की हड़ताल का ऐलान

सरकार को देश से माफी मांगनी चाहिए
आजाद ने कहा कि सरकार ने जम्मू-कश्मीर (Jammu And Kashmir) में विकास होने का दावा किया। इससे ज्यादा क्रूर मजाक कुछ और नहीं हो सकता। जहां लोगों के पास खाने के लिए कुछ नहीं है, लोगों के पास काम नहीं है वहां आप कैसे कह सकते हैं कि विकास हो रहा है। उन्होंने कहा, 'राष्ट्रपति के मुंह से गलतबयानी के लिए सरकार को देश और जम्मू कश्मीर से माफी मांगनी चाहिए।'

बजट सत्र से पहले PM मोदी ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, कहा- विपक्ष की राय सुनने को तैयार

'देश के लिए आज दुर्भाग्य का दिन'
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा (Anand Sharma) ने कहा, 'देश के लिए आज दुर्भाग्य का दिन है। राष्ट्रपति देश के संविधान के संरक्षक हैं। इस कानून के जरिए संविधान पर हमला किया गया है। सरकार ने सीएए को उपलब्धि बताकर राष्ट्रपति पद की गरिमा को गिराया है।'

कोरोना वायरस का कहर: चीन में कई लोगों की मौत पर राहुल गांधी ने जताया दुख

विपक्षी दलों का हमला
माकपा महासचिव सीताराम येचुरी (Sitaram Yechury) ने कहा, 'सरकार ने प्रदर्शनकारियों के साथ बातचीत का कोई संकेत नहीं दिया। इसके उलट वह हिंसा का सहारा ले रही है।' राजद नेता मीसा भारती (Misa Bharti) ने कहा, 'सरकार द्वारा प्रदर्शन को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश हो रही है। लेकिन इसमें सभी समुदायों के लोग शामिल हैं।' उन्होंने कहा, 'विपक्षी दलों को उम्मीद थी कि अभिभाषण में राष्ट्रपति देश के हालात के बारे में बात करेंगे। लेकिन कुछ भी नहीं कहा गया।' गौरतलब है कि संसद के केंद्रीय कक्ष में राष्ट्रपति के अभिभाषण के दौरान सीएए का विरोध करते हुए कांग्रेस समेत 14 विपक्षी दलों के सदस्य बांह पर काली पट्टी बांधकर पीछे की सीटों पर बैठे।  

comments

.
.
.
.
.