Friday, Dec 13, 2019
congress has opened  without any infrastructure educational institutions

कांग्रेस ने बिना किसी आधारभूत ढांचे के ही खोल दी शिक्षण संस्थाएं: शिक्षा मंत्री

  • Updated on 7/28/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज (suresh bhardwaj) ने शनिवार को कहा कि राज्य में सत्तारूढ़ रही पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार (congress government) ने बगैर कोई ढांचा बनाए और कर्मचारियों की भर्ती किए बिना ही बड़ी संख्या में शिक्षण संस्थाएं खोल दीं। भारद्वाज ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पिछली कांग्रेस सरकार (congress) ने हिमाचल प्रदेश में कई शिक्षण संस्थान खोले लेकिन पर्याप्त ढांचा खड़ा नहीं किया और कर्मचारियों की भर्ती ही नहीं की।

ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी 2: UP में गृहमंत्री अमित शाह करेंगे 255 से ज्यादा परियोजनाओं का शिलान्यास

राज्य विधानसभा चुनावों से ठीक पहले 21 अक्टूबर, 2017 को तत्कालीन मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह (cm virbhadra singh) ने एक ही बार में 21 कॉलेज खोलने का ऐलान कर दिया। उनके पास शिक्षा मंत्रालय (Ministry of Education) भी था।  उन्होंने कहा कि मौजूदा भाजपा सरकार ने इनमें से 16 ‘‘नए कॉलेज’’ शुरू कर दिये हैं और इसके लिए आवश्यक ढांचा तैयार किया जा है ओर लोगों की भर्ती की जा रही है। उन्होंने कहा, हालांकि पांच नए कॉलेज छात्रों के न होने के कारण शुरू नहीं हो सके हैं।

कर्नाटक में नया सियासी मोड़, सरकार के बहुमत परीक्षण से पहले 14 और विधायक अयोग्य घोषित हुए

उन्होंने कहा कि यह सुझाव दिया गया है कि सभी हिमालयी राज्यों (Himalayan states) के लिए अलग शिक्षा नीति होनी चाहिये। उनकी यह भी योजना है कि आंगनवाड़ी केंद्रों को स्कूल परिसर में ले आया जाए। भारद्वाज ने कहा कि सरकार सैद्धांतिक तौर पर इस बात से सहमत है कि शैक्षिक सत्र के बाद ही कोई अध्यापक सेवानिवृत्त हो और नियुक्तियां भी इसी अनुरूप हों।

टेरर फंडिंग को लेकर बारामूला में NIA की व्यापारियों पर बड़ी छापेमारी

यही बात पदोन्नति में भी लागू होगी। बीते 18 महीनों में राज्य सरकार ने शिक्षा विभाग में साढ़े पांच हजार पदों पर भर्ती की गई है और 623 सहायक प्रोफेसरों को नौकरी दी गई है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.