Tuesday, Dec 06, 2022
-->
congress jnuviolence conspiracy the whole country saw amit shah goondism

#JNUViolence को कांग्रेस ने बताया साजिश, कहा- गुंडागर्दी के लिए मोदी-शाह जिम्मेदार

  • Updated on 1/6/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में रविवार को छात्रों के दो गुटों के बीच हुई भिड़ंत और हिंसा पर कांग्रेस (Congress) के कई नेताओं ने आलोचना की है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने जेएनयू में हुई हिंसा पर निराशा जाहिर की और कहा कि यह उस डर को दिखाती है जो 'हमारे देश को नियंत्रित कर रही फासीवादी ताकतों को' छात्रों से लगता है।   

JNU में हिंसा के बाद स्टूडेंट यूनियन को मिला देश भर के छात्रों का साथ, कई शहरों में प्रदर्शन

राहुल गांधी ने कही ये बात
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को ट्वीट कर कहा, "नकाबपोश लोगों द्वारा जेएनयू छात्रों और शिक्षकों पर किया गया नृशंस हमला चौंकाने वाला है जिसमें कई गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। हमारे देश को नियंत्रित कर रही फासीवादी ताकतें, बहादुर विद्यार्थियों की आवाज से डरती हैं। जेएनयू में आज हुई हिंसा उस डर को दर्शाती है।"

JNU हिंसा की राजनीतिक जगत ने की जमकर आलोचना, मायावती ने बताया 'शर्मनाक'

जेएनयू हिंसा को साजिश करार
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने जेएनयू हिंसा को साजिश करार देते हुए पूछा, "नकाबपोश लोगों को कैंपस में कैसे घुसने दिया गया? कुलपति ने क्या किया? पुलिस बाहर क्यों खड़ी थी? गृह मंत्री क्या कर रहे थे? ये सभी प्रश्न अनुत्तरित हैं। यह एक स्पष्ट साजिश है, जांच की जरूरत है।"

केरल के सीएम ने की #JNUViolence की निंदा, RSS को दी ये सलाह

प्रायोजित गुंडागर्दी को पूरे देश ने देखा
कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने कहा, "पूरे देश ने कल जेएनयू के परिसर में राज्य प्रायोजित गुंडागर्दी और आतंकवाद को देखा। यह सब जेएनयू प्रशासन और दिल्ली पुलिस की निगरानी में हुआ, जो सीधे गृह मंत्री अमित शाह द्वारा नियंत्रित किया जाता है।

सुरजेवाला ने आगे कहा, "मोदी जी और अमित शाह जी ने छात्रों पर दमन चक्र चलाकर नाजी शासन की याद 90 साल बाद दिला दी। जिस तरह से छात्रों, छात्राओं और शिक्षकों पर हमला किया गया और जिस प्रकार पुलिस मूकदर्शक बनी रही, वह दिखाता है कि देश में प्रजातंत्र का शासन नहीं बचा है।" उन्होंने कहा, "युवा प्रजातंत्र और संविधान पर हमले के खिलाफ आवाज उठाते हैं तो उनकी आवाज दबाई जाती है। जान लीजिए मोदी, युवाओं की आवाज नहीं दबने वाली है। सरकार प्रायोजित आतंकवाद और गुंडागर्दी नहीं चलने वाली है।"

गुंडागर्दी के लिए शाह को ठहराया जिम्मेदार
पार्टी के मुख्य प्रवक्ता ने कहा, "ऐसा लगता है कि मोदी और अमित शाह की सरकार के रूप में नाजी शासन आ गया है। इन गुंडों का ताल्लुक भाजपा और एबीवीपी से था। यह सब कुलपति की मूक सहमति से हो रहा था। यब सब अमित शाह के मौन समर्थन से हुआ।" उन्होंने कहा, "हम मोदी जी, अमित शाह जी, भाजपा और एबीवीपी की कड़ी निंदा करते है।"    

सुरजेवाला ने कहा, "सरकार प्रायोजित आतंकवाद और गुंडागर्दी के लिए अमित शाह जिम्मेदार हैं। अमित शाह जी, आपकी किसी जांच पर भरोसा नहीं है क्योंकि इस गुंडागर्दी को आपका संरक्षण हासिल था।" उन्होंने कहा, "हमारी मांग है कि न्यायिक जांच हो। उच्चतम न्यायालय अथवा दिल्ली उच्च न्यायालय के किसी वर्तमान न्यायधीश से जांच कराई जाए। इसी से सच्चाई सामने आएगी।"

#JNUViolence को लेकर AMU में निकाला गया विरोध मार्च, आज खुलनी थी यूनिवर्सिटी

छात्र संघ की अध्यक्ष समेत 36 घायल
डंडों से लैस नकाबपोश लोगों के छात्रों और शिक्षकों पर हमला करने और परिसर में संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के बाद रविवार रात जेएनयू में हिंसा भड़क उठी थी। इसके बाद प्रशासन को परिसर में पुलिस बुलानी पड़ी। इस घटना में कम से कम 36 लोग घायल हो गए और इन्हें एम्स (Aiims) में भर्ती कराया गया है। जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष को सिर में चोट आई है। वाम नियंत्रित जेएनयू छात्र संघ (JNUSU) और एबीवीपी (ABVP) ने हिंसा के लिए एक-दूसरे पर आरोप मढ़ा। यह हिंसा करीब दो घंटे तक जारी रही।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.