Wednesday, Feb 19, 2020
congress leader digvijay singh brother laxman singh statement against rahul gandhi

कांग्रेस सांसद ने राहुल गांधी पर साधा निशाना, कहा- झूठे वादे के लिए किसानों से मांगें माफी

  • Updated on 9/19/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के छोटे भाई लक्ष्मण सिंह (Laxman Singh) ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पर निशाना साधा है। लक्ष्मण सिंह ने अपने ही पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने किसानों (Farmers) से किया अपना वादा पूरा नहीं किया। 

लक्ष्मण सिंह ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि चुनाव से पहले राहुल गांधी ने किसानों से वादा किया था कि उनका कर्जा माफ किया जाएगा। ये वादा अभी तक पूरा नहीं किया गया है, इसलिए उन्हें किसानों से माफी मांगनी चाहिए। ये ही नहीं उन्होंने प्रदेश के पार्टी नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि किसी भी काम के लिए पार्टी नेताओं से मिलना बहुत मुश्किल है। 

दिग्विजय सिंह पर मानहानि का मुकदमा दर्ज

कमलनाथ के खिलाफ भी दिया था बयान
लक्ष्मण सिंह पांच बार सांसद रह चुके हैं और अभी विधायक हैं। दो बार सिंह बीजेपी सांसद भी रह चुके हैं। ये पहली बार नहीं है कि लक्ष्मण सिंह ने अपनी ही पार्टी क नेता की आलोचना की हो। इससे पहले वो जब मध्यप्रदेश में कांग्रेस की कमान कमलनाथ को सौंपी गई थी तब भी उन्होंने विवादत बयान दिया था। सिंह ने कहा था कि ब्लूटूथ के युग में कमलनाथ को प्रदेश की कमान सौंपना एचएमवी रिकॉर्ड चलाने जैसा है। 

मुहर्रम के मौके दिग्विजय सिंह ने किया मुसलमानों को सलाम, यूजर्स ने लगाई Class

कपिल सिब्बल पर भी साधा निशाना
ये ही नहीं पूर्व वित्तमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता की गिरफ्तारी पर भी उन्होंने परोक्ष रूप से वरिष्ठ वकील और कांग्रेस के दिग्गज नेता कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी पर निशाना साधते हुए का था कि चिदंबरम की जमानत भी नहीं करा सके। जब साल 2010 में लक्ष्मण सिंह बीजेपी में थे तब उन्होंने नितिन गड़करी की आलोचना की थी, जिसके बाद पार्टी ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया था। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.