Friday, May 07, 2021
-->
congress-leaders-meet-governor-to-demand-dismissal-of-nitish-government-rkdsnt

नीतीश सरकार को बर्खास्त करने की मांग को लेकर कांग्रेस नेताओं ने राज्यपाल से की मुलाकात

  • Updated on 10/30/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बिहार में विधानसभा चुनाव के बीच कांग्रेस के नेताओं ने शुक्रवार को राज्यपाल फागू चौहान से मुलाकात की और दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान मुंगेर में गोलीबारी के लिए नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए उसे बर्खास्त करने की मांग की। बिहार प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष मदन मोहन झा ने राजभवन में राज्यपाल को एक ज्ञापन सौंपा और नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली सरकार को बर्खास्त करने की मांग की। 

शापूरजी पालोनजी ग्रुप ने टाटा से अलग होने का प्लान सुप्रीम कोर्ट को सौंपा

कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ज्ञापन सौंपने के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम नीतीश कुमार सरकार को बर्खास्त करने की मांग करते हैं...हमने राज्यपाल को बताया कि मुंगेर की घटना जद(यू)-भाजपा सरकार के इशारे पर हुई।’’ उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा-जद(यू) सरकार ने ही सोमवार रात प्रतिमा विसर्जन के दौरान देवी दुर्गा के निर्दोष श्रद्धालुओं पर गोलीबारी और लाठीचार्ज का आदेश दिया, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गयी जबकि आठ लोग घायल हो गए।’’ 

 अमिताभ के शो 'कौन बनेगा करोड़पति' में छाया केजरीवाल का दिल्ली मॉडल, AAP उत्साहित

सुरजेवाला ने बताया कि ज्ञापन में कहा गया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुंगेर के लोगों के लिए न्याय सुनिश्चित करने के स्थान पर घटना के लिए जिम्मेदार पुलिस अधीक्षक और जिलाधिकारी को बचाने की कोशिश की। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार दोनों अधिकारियों को इसलिए बचा रही है क्योंकि मुंगेर की पुलिस अधीक्षक जदयू के वरिष्ठ नेता (राज्यसभा सदस्य आरसीपी सिंह) की बेटी हैं जबकि जिलाधिकारी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी दोनों के करीबी हैं।  

मोदी सरकार ने लगाया महंगाई का तड़का, एथनॉल की कीमतें भी बढ़ीं

सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि कि नीतीश और सुशील मोदी ‘नृशंस और बर्बर’ गोलीबारी तथा लाठीचार्ज के ‘‘असली गुनहगार’’ हैं, जिनकी सहमति से यह घटना हुई। उन्होंने कहा कि प्रतिनिधिमंडल ने मुंगेर में गोलीबारी में मारे गए व्यक्ति अनुराग कुमार के परिवार के लिए 50 लाख रुपये मुआवजे तथा इस संबंध में दोषी अधिकारियों को निलंबित करने के बाद एफआईआर दर्ज करने की मांग की। सुरजेवाला ने कहा कि अस्वस्थ होने के बावजूद राज्यपाल ने कांग्रेस नेताओं को गंभीरता से सुना और ‘आवश्यक कार्रवाई’ के लिए उन्हें आश्वस्त किया। कांग्रेस नेता ने दावा किया कि सीआईएसएफ के सार्वजनिक हुए ई-मेल में माना गया है कि पुलिस ने मुंगेर में गोलीबारी की। 

चुनाव आयोग ने कमलनाथ का नाम स्टार प्रचारकों से हटाया

ई-मेल में सीआईएसएफ के डीआईजी ने बल के रांची के आईजी को लिखा है कि स्थानीय पुलिस ने पहले हवा में गोलियां चलायी और स्थिति के नियंत्रण से बाहर होने की आशंका में सीआईएसएफ के एक कांस्टेबल ने आत्मरक्षा में हवा में 13 चक्र गोलियां चलायी। कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल में रणदीप सिंह सुरजेवाला के साथ प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष मदन मोहन झा, पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा समेत कई कांग्रेसी नेता शामिल थे।  

‘मिर्जापुर 2’ के खिलाफ हिंदी लेखक ने कानूनी कार्रवाई की दी चेतावनी

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

 


 

comments

.
.
.
.
.