Wednesday, Jun 26, 2019

क्या भाजपा के राष्ट्रवादी मुद्दों के आगे फीका पड़ा कांग्रेस का 'न्यायवादी' घोषणापत्र, जानिए...

  • Updated on 5/22/2019

नई दिल्ली/अमरदीप शर्मा।आगामी लोकसभा चुनाव के लिए शंखनाद हो चुका है। मौसम में बढ़ती हुई गर्माहट के साथ देश भर में सियासी पारा भी अपने चरम पर पहुंच रहा है। सभी राजनीतिक पार्टियां सियासी अखाड़े में अपने दांव-पेच चलने में कोई कसर नहीं छोड़ रही हैं। देश की दो सबसे बड़ी पार्टी भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस पार्टी के बीच सत्ता के सिंहासन पर पहुंचने की सीधी लड़ाई है। लिहाजा दोनों ने अपने-अपने  पैंतरों को जनता के बीच में ले जाने की कवायद शुरु कर दी है। दोनों ही पार्टियों के बीच विचार धाराओं की लड़ाई है। 

कांग्रेस पार्टी मे मंगलवार को अपना चुनावी घोषणापत्र जारी कर दिया जिसे जनआवाज का नाम दिया गया। इसके साथ ही इसकी टैगलाइन 'हम निभाएंगे' रखी गई है। कांग्रेस ने गरीबी पर प्रहार करने वाले घोषणा पत्र के सहारे चुनावी रण जीतने की कोशिश की है। इसके अलावा भारतीय जनता पार्टी लगातार अपने राष्ट्रवाद के मुद्दे को लेकर चर्चा में रही है। पार्टी सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक जैसे मामलों के साथ पाकिस्तान को जवाब देने की बातों का मसला भी जोरों से उठा रही है।

कांग्रेस का गरीबी पर वार...

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एलान करते हुए 25 मार्च को कहा  था कि उनकी पार्टी अगर केंद्र की सत्ता में आई तो गरीबी की मार झेल रहे देश के 20 प्रतिशत परिवारों को न्यूनत आय देगी। इसमें हरेक व्यक्ति की सालाना आय 72 हजार निर्धारित की जाएगी। राहुल गांधी का कहना है कि इस योजना से देश में 25 करोड़ लोग लाभान्वित होगे। 

भाजपा का राष्ट्रवादी मुद्दा...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहते हैं कि हमारी सरकार ने एयर स्ट्राइक और सर्जिकल स्ट्राइक से पाकिस्तान को सबक सिखाया। कांग्रेस ने देश की सुरक्षा से समझौता किया है। कांग्रेस ने सेना की काबिलीयत पर सवाल उठाए हैं। इसके साथ ही कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेताओं के बयान पाकिस्तान के अखबारों की हैडलाइन बनते हैं। पाक टीवी पर कांग्रेस के नेता छाए रहते हैं। 

कांग्रेस का घोषणा पत्र

कांग्रेस ने अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी किया जिसमें बड़े- बड़े वादे किए हैं। युवाओं का साधने के लिए कहा कि हमारी सरकार खाली पड़े 22 लाख सरकारी नौकरियों के पदों को भरेगी। इसके साथ ही मनरेगा के मजदूरों को 150 दिन रोजगार की गारंटी देने की बात कही। राहुल गांधी ने अपनी पीठ थपथपाते हुए कहा कि 2009 में मनरेगा से देश की अर्थ विवस्था में काफी मजबूती आई थी। जिसकी देश के कई बड़े- बड़े अर्थशास्त्रियों ने तारीफ की है। 

भाजपा का हिंदुत्व एजेंडा

भारतीय जनता पार्टी लगातार हिंदुत्व को साधने में लगी हुई है। सरकार ने राम मंदिर के पक्ष में अपना रुख साफ कर दिया है। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने कहते हैं कि हम राम मंदिर बनाने के लिए कटुबद्ध है। इसके अलावा पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी शांति प्रिय हिंदुओं को आतंकवादी घोषित करने में लगी हई है। जिसके साथ ही हिंदू धर्म की बेइज्जती कर रही है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.