Sunday, Sep 19, 2021
-->
congress manish tewari taunt pm modi message to the country this evening pragnt

आज शाम देश के नाम PM के संदेश पर कांग्रेस ने कसा तंज, कहा- '5 बजे फिर.....हे राम...!'

  • Updated on 6/7/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में कोरोना वायरस की दूसरी खतरनाक लहर और ब्लैक फंगस महामारी के कहर के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम पांच बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे। पीएम मोदी के आज शाम 5 बजे देश के नाम संदेश को लेकर कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, '5 बजे फिर.....हे राम...!'

रिश्तेदारों को नौकरी देने के TMC के आरोपों को बंगाल के राज्यपाल ने किया खारिज

PM मोदी आज शाम 5 बजे देश को करेंगे संबोधित
प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट करके ये जानकारी दी है। प्रधानमंत्री पिछले वर्ष कोविड-19 वैश्विक महामारी फैलने के बाद से कई बार देश को संबोधित कर चुके हैं। इस दौरान उन्होंने लोगों को सुझाव दिए और हालात के निपटने के लिए उनकी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की जानकारी दी है। अपने संबोधनों में प्रधानमंत्री ने कई बार नई घोषणाएं भी की हैं।  

प्रियंका गांधी ने पूछा- आंकड़ों को अपनी छवि बचाने के माध्यम की तरह क्यों प्रस्तुत कर रही है केंद्र ?

अनलॉक होते राज्यों पर डालेंगे प्रकाश
प्रधानमंत्री मोदी के आज के संबोधन में भी यही कयास लगाए जा रहे हैं कि कोरोना से संबंधित संदेश देंगे। क्योंकि जिस तरीके से पिछले दिनों कोरोना के भयावह होते रुप के बाद अब थोड़ी स्थिति कंट्रोल में है। ऐसे में पीएम मोदी संभावित तीसरी लहर से सावधानी के तरीकों पर बात कर सकते हैं। इसके अलावा जिन राज्यों को अनलॉक किए जा रहे हैं वहां के लोगों के लिए भी पीएम संदेश दे सकते हैं। 

मुलायम के वैक्सीन लेने पर UP के डिप्टी CM का तंज, कहा- अखिलेश मांगे माफी

टीकाकरण को लेकर कर सकते हैं ऐलान
बताया तो यह भी जा रहा है कि पीएम मोदी कोरोना से जंग में टीकाकरण के फायदे बता सकते हैं। साथ ही साथ लोगों को इसे बेझिझक लगाने के लिए प्रेरित भी कर सकते हैं। संभवत टीकाकरण डोज को लेकर ऐलान कर सकते हैं या फिर राज्यों में टीकाकरण की प्रक्रिया पर भी प्रकाश डाल सकते हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.