Wednesday, Jan 26, 2022
-->
congress mla to go to assembly from tractors in protest of agricultural laws prshnt

कृषि कानूनों के विरोध में ट्रैक्टरों से विधानसभा जाएंगे कांग्रेस विधायक

  • Updated on 12/24/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) कांग्रेस विधायक दल के सदस्य महंगाई एवं तीन नये कृषि कानूनों (New Farm Bill ) के विरोध में सोमवार को ट्रैक्टरों में बैठकर विधानसभा पहुचेंगे। मध्यप्रदेश विधानसभा का तीन दिवसीय सत्र सोमवार से शुरू होने वाला है। मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री हर्ष यादव ने गुरुवार को बताया कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने पार्टी के सभी 95 विधायकों से 28 दिसंबर की सुबह पार्टी के भोपाल स्थित मुख्यालय पहुंचने को कहा है।     

उन्होंने कहा कि इसके बाद सभी विधायक केन्द्र सरकार के तीन नये कृषि कानूनों एवं महंगाई के विरोध में ट्रैक्टरों में बैठकर विधानसभा सत्र में भाग लेने जाएंगे। यादव ने आरोप लगाया कि ये तीन कृषि कानून किसानों के लिए घातक हैं। पेट्रोल, डीजल एवं रसोई गैस की कीमतें आसमान छू गई हैं, जिससे आमजन को बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

राहुल- प्रियंका के बयान पर गिरिराज का पलटवार, याद करें इंदिरा की इमरजेंसी

राष्ट्रपति भवन तक मार्च करेंगे वाले थे राहुल गांधी
केंद्र की मोदी सरकार द्वारा लाए गए नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का आंदोलन आज 29वें दिन भी लगातार जारी है। सरकार और किसानों के बीच 5वें दौर की बैठक के बाद भी कोई हल नहीं निकल सका है। ऐसे में नए कानूनों को लेकर केंद्र पर पहले से हमलावर कांग्रेस ने एक बार फिर सरकार को घेरने की तैयारी कर ली है। इस क्रम में आज राहुल गांधी राष्ट्रपति भवन तक मार्च करेंगे वाले थे, फिलहाल, उन्हें इस मार्च की इजाजत नहीं दी गई है।

कोरोना के नए रूप से घबराई दुनिया, कैसे करें बचाव? जाने चार देशों के डॉक्टरों ने क्या बताया...

कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग
वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने गुरुवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की और केंद्रीय कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की। राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद राहुल गांधी ने कहा कि सरकार को संसद का संयुक्त सत्र बुलाना चाहिए और इन कानूनों को वापस लेना चाहिए।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘राष्ट्रपति से हमने कहा कि ये कानून किसान विरोधी हैं और इससे मजदूरों और किसानों का बहुत नुकसान होने जा रहा है तथा किसान इन कानूनों के खिलाफ खड़ा है। 

सबरीमाला मंदिर: HC के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती, श्रद्धालुओं की एंट्री का मामला

कानून वापस नहीं लिया तो देश को होगा नुकसान
गांधी ने कहा, प्रधानमंत्री को यह नहीं सोचना चाहिए कि ये मजदूर और किसान वापस चले जाएंगे। जब तक ये कानून वापस नहीं लिए जाते तब तक ये किसान पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा, संयुक्त सत्र बुलाइए और कानूनों को वापस लीजिए।कांग्रेस नेता ने दावा किया कि अगर प्रधानमंत्री ने कानून वापस नहीं लिए तो सिर्फ भाजपा और आरएसएस को नहीं, बल्कि देश को नुकसान होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि दो करोड़ हस्ताक्षरों के साथ राष्ट्रपति को ज्ञापन दिया गया है।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.