Friday, Jan 24, 2020
congress rahul gandhi attack on nirmala sitharaman onion statement loksabha

वित्त मंत्री के बेतुका बयान पर कांग्रेस का प्रहार, कहा- प्याज खाती हैं या नहीं इससे मतलब नहीं

  • Updated on 12/5/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) के 'प्याज' (Onion) वाले बयान पर काफी बवाल खड़ा हो गया है। कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने वित्त मंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि वित्त मंत्री प्याज खाती हैं या नहीं, इससे मतलब नहीं, हम अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर उनसे सवाल कर रहे हैं।

वित्त मंत्री नहीं खाती तभी मोदी सरकार ने सड़ा दी 32 हजार टन प्याज- AAP सांसद

मैं ऐसे परिवार से आती हूं जहां प्याज नहीं खाते- सीतारमण
दरअसल, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को वित्त वर्ष 2019-2020 के लिए अनुदानों की अनुपूरक मांगों के पहले बैच पर लोकसभा (Lok Sabha) में हुई चर्चा का जवाब देते हुए वित्त मंत्री ने कहा था कि कहा था कि प्याज के भंडारण से कुछ ढांचागत मुद्दे जुड़े हैं और सरकार इसका निपटारा करने के लिए कदम उठा रही है। इस चर्चा के दौरान निर्मला सीतारमण ने कहा था, "मैं एक ऐसे परिवार से आती हूं जहां प्याज और लहसून नहीं खाते।"

नागरिकता संशोधन विधेयक पर BJP के साथ आयी शिवसेना, कहा- करेंगे घुसपैठियों का विरोध

संसद में नागरिकता (संशोधन) विधेयक का विरोध करेगी कांग्रेस
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गुरुवार को कहा कि उनकी पार्टी पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आने वाले गैर-मुस्लिम शरणार्थियों को नागरिकता देने से संबंधित विवादित नागरिकता (संशोधन) विधेयक का विरोध करेगी। राहुल का यह बयान ऐसे समय में आया है जब यह विधेयक संसद में पेश होने के लिये तैयार है। इस विधेयक का पूर्वोत्तर राज्यों में भी पुरजोर विरोध हो रहा है।

केंद्रीय मंत्रिमंडल बुधवार को विधेयक के मसौदे को मंजूरी भी दे चुका है। गांधी ने पत्रकारों से कहा, "कांग्रेस पार्टी इस देश में किसी के साथ किसी भी तरह के भेदभाव के खिलाफ है। लिहाजा, जो भी किसी भारतीय के साथ भेदभाव करता है, हम उसके खिलाफ हैं। यही हमारा मानना है। हमारा मानना है कि भारत सभी समुदायों, धर्मों और संस्कृतियों के लिये है।" कई विपक्षी दल नागरिकता (संशोधन) विधेयक का विरोध कर रहे हैं। उनका मानना है कि यह विधेयक सांप्रदायिक और विभाजनकारी है। कांग्रेस ने प्रस्तावित विधेयक को उच्चतम न्यायालय में चुनौती देने की बात कही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.