Sunday, May 22, 2022
-->
congress rahul gandhi target modi bjp govt on report on increasing wealth of billionaires rkdsnt

कोरोना काल में अरबपतियों की बल्ले-बल्ले, कांग्रेस ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

  • Updated on 1/17/2022

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस ने देश में अरबपतियों की संपत्ति बढऩे संबंधी एक रिपोर्ट को लेकर सोमवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि सरकार ने महामारी के समय अपने ‘मित्र’ पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाया और आम लोगों को कोई राहत नहीं दी। विपक्षी पार्टी ने सरकार से यह आग्रह किया कि पेट्रोल-डीजल की कीमतें कम की जाएं और आवश्यक वस्तुओं पर माल एवं सेवा कर (जीएसटी) की दर घटाई जाए। 

कोरोना काल में 16 करोड़ और हुए ‘गरीब’, अमीरों की हुई जमकर ‘कमाई’ : ऑक्सफैम रिपोर्ट

 

आर्थिक असमानता पर ऑक्सफैम की रिपोर्ट में कहा गया है कि कोविड-19 महामारी के दौरान भारत के अरबपतियों की कुल संपत्ति बढ़कर दोगुने से अधिक हो गई और 10 सबसे अमीर लोगों की संपत्ति 25 साल तक देश के हर बच्चे को स्कूली शिक्षा एवं उच्च शिक्षा देने के लिए पर्याप्त है। इस अध्ययन के मुताबिक, इस दौरान भारत में अरबपतियों की संख्या 39 प्रतिशत बढ़कर 142 हो गई। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘‘आय का इतना भेदभाव किसी भी प्रजातांत्रिक देश के लिए $खतरनाक है। ये है मोदी जी का भारत! गांधी जी के सपनों का देश नहीं!’’ 

पंजाब में मुख्यमंत्री पद के AAP उम्मीदवार का ऐलान मंगलवार को होगा: केजरीवाल

पार्टी प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘इस सरकार के लिए यह कहना पूरी तरह उचित रहेगा कि अमीरों का विकास, गरीबों का नहीं दो साथ, अब मोदी जी पर नहीं रहा, देश की जनता का विश्वास।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ऑक्सफैम की रिपोर्ट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी खामोश हैं। शायद वित्त मंत्री को पता भी नहीं होगा कि ऐसी कोई रिपोर्ट आई है....यह सरकार कहती है कि अर्थव्यवस्था पटरी पर आ चुकी है। सच्चाई यह है कि अर्थव्यवस्था पटरी पर नहीं आई है, बल्कि अरबपतियों की संख्या बढ़ी है।  

अखिलेश का दावा- गुजरात के लोगों को वापस न भेजा गया तो नहीं होगा निष्पक्ष चुनाव

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने महामारी के समय कॉरपोरेट कर को 30 प्रतिशत से घटाकर 22 प्रतिशत कर दिया। वल्लभ ने सवाल किया, ‘‘मोदी जी, आपके पास कौन सा फॉर्मूला है कि आपदा के समय आपके मित्रों की आय दोगुनी बढ़ जाती है, जबकि देश के 84 प्रतिशत लोगों की आय घट जाती है? लोगों के खातों में सीधे पैसे क्यों नहीं भेजे? आपने आपदा में कॉरपोरेट कर घटा दिया, लेकिन मध्यम आय वर्ग के लोगों राहत क्यों नहीं दी?’’ उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल की कीमत घटाई जाए और जरूरी वस्तुओं पर लगने वाली जीएसटी की दरों को कम किया जाए। 

SEBI ने IPO से जुटाई गई राशि के इस्तेमाल संबंधी नियमों को सख्त किया

ऑक्सफैम की रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 142 भारतीय अरबपतियों के पास कुल 719 अरब अमेरिकी डॉलर (53 लाख करोड़ रुपये से अधिक) की संपत्ति है। देश के सबसे अमीर 98 लोगों की कुल संपत्ति, सबसे गरीब 55.5 करोड़ लोगों की कुल संपत्ति के बराबर है। रिपोर्ट के अनुसार, यदि 10 सबसे अमीर भारतीय अरबपतियों को प्रतिदिन 10 लाख अमेरिकी डॉलर खर्च करने हों, तो उनकी वर्तमान संपत्ति 84 साल में खत्म होगी।

धर्मसंसद में भड़काऊ भाषण : कोर्ट ने यति नरसिंहानंद को न्यायिक हिरासत में भेजा

comments

.
.
.
.
.