Tuesday, Dec 07, 2021
-->
congress rebel mla aditi singh attacks priyanka gandhi like bjp buses migrant workers rkdsnt

बसों के मुद्दे पर कांग्रेस की बागी MLA अदिति सिंह ने भी BJP के सुर में सुर मिलाए

  • Updated on 5/20/2020

नई दिल्ली/ब्यूरो। पैदल घरों को जा रहे प्रवासी मजदूरों को बसों से उनके घर पहुंचाने की कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की मुहिम को योगी सरकार ने करारा झटका दिया है। बसों को लेकर जारी सियासी जंग के बीच यूपी सीमा पर खड़ी कांग्रेस की बसें वापस चली गईं हैं। उनका कोई इस्तेमाल नहीं हो सका। यूपी सरकार की ओर से दलील दी गई है कि इन बसों में ज्यादातर कंडम हैं, जिन्हें सड़कों पर चलने की इजाजत देकर मजदूरों के जिंदगी से खिलवाड़ नहीं किया जा सकता है।

कांग्रेस की बसों को योगी सरकार ने बेरंग लौटाया, बेअसर रही प्रियंका की अपील

 खास बात यह है कि बसों के मुद्दे पर रायबरेली सदर से कांग्रेस की बागी विधायक अदिति सिंह ने भी कूद पड़ी हैं। उन्होंने भी बस मुद्दे पर भाजपा के सुर में सुर मिलाते हुए प्रवासी मजदूरों को लेकर अपनी ही पार्टी पर डर्टी पॉलिटिक्स करने का आरोप लगा दिया। 

उमर अब्दुल्ला ने PM मोदी से लगाई गुहार, कहा- ईद से हम कुछ दिन दूर हैं...

अदिति सिंह ने कहा कि ऐसे संकट काल में प्रवासी मजदूरों की मदद करने की बजाए टू व्हीलर, थ्रीव्हीलर, एंबुलेंस, ट्रक के नंबर देकर कांग्रेस को सस्ती राजनीति नहीं करनी चाहिए। अपनी ही पार्टी के बयान को लेकर कांग्रेस बुरी तरह घिर गई है। 
अदिति का बयान तब आया, जब पार्टी की यूपी प्रभारी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी खुद एक वीडियो संदेश में कह चुकी थीं कि सूची में कुछ गड़बड़ी संबंधी सरकार की बात मान भी लें तो जो बसें ठीक पाई गई हैं उन्हें तो मंजूरी दी जाए। 

कांग्रेस नेता को मालिनी अवस्थी ने दी चेतावनी, बोलीं- मेरे पति की मिसाल देता है पूरा यूपी

प्रियंका ने खुद कहा कि यह वक्त सियासत का नहीं, बल्कि मजबूर मजदूरों की तकलीफ को समझने और उन्हें सहारा देने का है। प्रियंका ने कहा कि बीते तीन दिन से ये बसें यूपी सीमा पर लगी हैं, अगर सरकार समय रहते इन्हें इजाजत दे देती तो अब तक 67 हजार पैदल चलते मजदूरों को सुरक्षित उनके घरों तक पहुंचाया जा चुका होता। उन्होंने बताया कि कोरोना संकट के चलते लागू लॉकडाउन के बीच कांग्रेस के स्वयंसेवकों ने 67 लाख से ज्यादा लोगों की मदद की है। 

AAP सांसद ने पूछा- आखिर अपनी सभी ट्रेने क्यों नही चला रही है रेलवे?

उन्होंने कहा कि हमारी भावना सकारात्मक रही है और हमेशा से सेवा भाव रहा है। वहीं राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने एक बयान में यूपी के उपमुख्यमंत्री के आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि राजस्थान सरकार ने एक भी बस कांग्रेस को नहीं दिया है। उन्होंने बताया कि कांग्रेस पार्टी ने खुद बसों को किराए पर लिया है और मजदूरों को पहुंचाने के लिए यूपी सीमा तक पहुंचाया है। 

कन्हैया का भाजपा सरकार पर तंज, बोले- इनको इंसानों से ज्यादा 'कागज' की परवाह

उन्होंने भी कहा कि इस मामले में सियासत नहीं होनी चाहिए और मजदूरों की तकलीफ को समझना चाहिए। इधर, कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने वीडियो लिंक के की गई प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि यह घटिया राजनीति की चरम सीमा है। योगी आदित्यनाथ सरकार गोल-गोल घुमा रही है। उन्होंने सरकार के रुख की निंदा करते हुए कहा कि इस राजनीति का औचित्य क्या है। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.