Tuesday, Apr 13, 2021
-->
congress  says we not allowed to speak in parliament for fear of pm modi lies exposed rkdsnt

पीएम के झूठ की पोल खुलने के डर से संसद में हमें नहीं बोलने दियाः कांग्रेस

  • Updated on 9/15/2020

नई दिल्ली/नवोदय टाइम्स/ब्यूरो। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने आरोप लगाया कि चीन के मसले पर प्रधानमंत्री के झूठ की पोल खुलने के डर से सदन में उन्हें बोलने नहीं दिया गया। उन्होंने कहा कि रक्षामंत्री के बयान के बाद हम भी सीमा पर खड़े सैनिकों के शौर्य को सलामी देना चाहते थे, लेकिन हमें अपनी बात रखने का मौका नहीं दिया गया।

किसानों ने सड़क जाम की, कृषि विधेयक के समर्थक सांसदों को दी चेतावनी


लद्दाख में एलएसी पर बीते कई महीने से चीन के साथ बने तनाव पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को संसद में एक संकप्ल (रिजोल्यूशन) पेश किया। कांग्रेस ने इस मुद्दे पर अपनी बात रखने की अपील की, लेकिन उसे अनसुना कर दिया गया। इससे नाराज कांग्रेस के सदस्यों ने सदन से वॉकआउट कर दिया। बाद में लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी और उपनेता गौरव गोगोई ने संसद के बाहर मीडिया के सामने अपनी बात रखी।

CISF की तर्ज पर काम करेगा नवगठित उत्तर प्रदेश विशेष सुरक्षा बल

चौधरी ने सदन में प्रधानमंत्री की गैरमौजूदगी को लेकर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि जब पहले से तय था कि आज रक्षामंत्री चीन मामले पर रिजोल्यूशन लाएंगे तो ऐसे महत्वपूर्ण मौके पर प्रधानमंत्री की गैरमौजूदगी कई सवाल खड़ा करती है। उन्होंने कहा कि पीएम को क्या डर था कि कहीं उनके उस झूठ का खुलासा न हो जाए, जो उन्होंने कहा था कि हमारी सीमा में न कोई घुसा है, न कोई कैंप चीनी फौजियों के कब्जे में है।

संसद में जया बच्चन के भाषण की बॉलीवुड हस्तियों ने की तारीफ, निशाने पर रवि किशन


उन्होंने कहा कि अगर सरकार का दिल साफ है, हिम्मत है तो चर्चा से क्यों डर रही है। उन्होंने कहा कि सदन डिबेट, डिस्कशन, डॉयलाग के लिए ही है। लेकिन सरकार उसका मौका ही नहीं देना चाहती। उपनेता गोगोई ने कहा कि हम सैनिकों के साथ एकजुटता का संदेश और चीन को कड़ी चेतावनी देना चाहते थे कि वे हमारी धैर्य की परीक्षा न लें, दुर्भाग्य से सरकार को लगता है कि केवल वह ही सेना के समर्थन में बोल सकती है।


---कांग्रेस ने दागे सवाल
कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि देश की सेना शौर्य के साथ सीमा पर चीनी सेनाओं के सामने सीना अड़ाए खड़ी है, लेकिन प्रधानमंत्री अपनी जवाबदेही से क्यों भाग रहे हैं? बहुमत की आड़ लेकर कांग्रेस और विपक्ष की आवाज दबाने की बजाए कुछ मूलभूत सवाल हैं, जिसका देश जवाब चाहता है। उन्होंने पूछा कि क्या चीन ने भारत की सरजमीं पर कब्जा कर रखा है? हां या न में जवाब संसद में दें।

कृषि संबंधी विधेयक: CM अमिरंदर की चुनौती के बाद शिअद नेताओं ने की नड्डा से मुलाकात

क्या डेपसांग प्लेंस, गोगरा, पैंगोंग त्सो लेक में फिंगर 8, वाई जंक्शन भूटान के अंदर, उत्तराखंड के लिपुलेख, अरुणाचल की सीमा पर चीन की ओर से दुस्साहस किया गया? चीन ने भारत की कितनी जमीन कब्जाई है? चीन को भारत की जमीन से खदेड़ने की समय सीमा क्या तय की है? क्या 19 जून को पीएम ने झूठ बोला था कि भारतीय जमीन पर न कोई कब्जा है और न कोई घुसपैठ हुई है? और चीन को लाल आंख कब दिखाओगे?

 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

सुशांत मौत मामले में CBI ने दर्ज की FIR, रिया के नाम का भी जिक्र

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.