Thursday, Jan 20, 2022
-->
congress-statewide-protest-against-anti-farmer-agriculture-law-in-uttar-pradesh-rkdsnt

किसान विरोधी कृषि कानून के खिलाफ कांग्रेस ने किया सरकार जगाओ कार्यक्रम

  • Updated on 12/23/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की सीमा पर जबरदस्त सर्दी के बीच पिछले 28 दिनों से जारी किसान आन्दोलन के समर्थन में उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने मंगलवार को प्रदेशव्यापी ‘ताली-थाली बजाओ और सरकार जगाओ’ कार्यक्रम का आयोजन किया। उप्र कांग्रेस की ओर से मंगलवार शाम को जारी एक बयान में कहा गया है कि किसानो के मामले पर सो रही भाजपा की केन्द्र और राज्य सरकारों एवं उसके जनप्रतिनिधियों(सांसदों, विधायकों) को जगाने के लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने आज किसान दिवस(पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयन्ती) पर प्रदेशव्यापी ‘ताली-थाली बजाओ और सरकार जगाओ’ कार्यक्रम आयोजित किया।  

किसान यूनियनों ने केंद्र के कृषि कानूनों में संशोधन के प्रस्ताव को ठुकराया

बयान में कहा गया है कि प्रदेश की राजधानी की लखनऊ में खुद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने अपने आवास बहुखण्डी-विधायक निवास, डालीबाग पर ताली-थाली बजाकर भारतीय जनता पार्टी के जनप्रतिनिधियों को गहरी निद्रा से जगाने का प्रयास किया। इसमें कहा गया है कि पूरे प्रदेश में कांग्रेस पार्टी के नेताओं, पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने अपने-अपने क्षेत्रों में भाजपा के स्थानीय जनप्रतिनिधियों-सांसदों, विधायकों के आवासों/कार्यालयों पर ताली-थाली बजाकर आन्दोलन किया। 

जेकेसीए धन शोधन मामले को लेकर फारूक अब्दुल्ला बोले- किसी के आगे नहीं झुकूंगा

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने ताली-थाली बजाने के बाद कहा कि पिछले 28 दिनों से हमारे देश का अन्नदाता जबरदस्त सर्दी में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की सीमा की सड़कों पर अपनी मांगों को लेकर आन्दोलनरत हैं, लेकिन सरकार को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ रहा है कि आन्दोलनरत किसान कितनी मुसीबत में अपनों को खोते जा रहे हैं। लल्लू ने कहा कि अब तक 28 किसानों की दुखद मौत हो चुकी हैं तथा आज से देश का पेट भरने वाला अन्नदाता किसान 18 घण्टे भोजन न करने (उपवास) पर है और भाजपा की सरकार एवं उनके प्रतिनिधि(सांसद-विधायक) अहंकार में कुम्भकर्णी नींद सो रहे हैं।  

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पूर्व नौकरशाहों को नहीं आया रास, पीएम मोदी को लिखा पत्र

उन्होने कहा कि भाजपा खुद अपनी रैली कर रही है और प्रदेश में अघोषित आपातकाल लगा रखा है। किसानों के समर्थन में कांग्रेस के कार्यकर्ता जब सांकेतिक रूप से कोई समर्थन व्यक्त करना चाहते हैं तो या तो उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाता है या उन्हें हाउस अरेस्ट कर लिया जाता है। कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘इस तानाशाही से केन्द्र और राज्य की भाजपा सरकार हमारे अन्नदाता किसानों की आवाज को दबा नहीं सकती। किसानों की मांगें पूरी होने तक कांग्रेस सड़क से सदन तक अपना संघर्ष जारी रखेगी ।’’ 

इसी क्रम में आज पूरे प्रदेश के प्रत्येक जनपद में पार्टी के जिलाध्यक्षों, शहर अध्यक्षों, पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने व्यापक रूप से भाजपा के सांसदों और विधायकों के आवास एवं कार्यालयों का घेराव किया तथा ताली-थाली बजाकर उन्हें सचेत किया कि वह अहंकारी रवैया त्यागकर अन्नदाता किसानों के समर्थन में उनकी मांगों को पूरा करने के लिए आगे आयें और जिन किसानों के बल पर आज वह सत्ता में बैठे हैं मुसीबत के समय उनका साथ दें। 

यूपी मॉडल के स्कूल नहीं देख पाए सिसोदिया, केजरीवाल ने सीएम योगी को दिया न्योता

इस आन्दोलन में जहां राजधानी लखनऊ में स्वयं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू तथा सैंकड़ों की संख्या में कांग्रेसजनों ने ताली-थाली बजाकर आन्दोलन में भाग लिया वहीं प्रदेश के अन्य जनपदों वाराणसी में प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री विश्वविजय सिंह के नेतृत्व में कार्यक्रम का आयोजन किया गया और गाजियाबाद में भाजपा विधायक के आवास का घेराव कर ताली-थाली बजाकर आन्दोलन किया गया।  बयान के मुताबिक प्रतापगढ़ में जिलाध्यक्ष बृजेन्द्र मिश्र को पुलिस ने गिरफ्तार किया। लखनऊ में जिलाध्यक्ष वेद प्रकाश त्रिपाठी, शहर अध्यक्ष मुकेश सिंह चौहान को हाउस अरेस्ट किया गया। मिर्जापुर के जिलाध्यक्ष शिव कुमार सिंह पटेल को नजरबंद किया गया। 

आईसीसी की धमकी के बीच BCCI की अहम एजीएम 

इसमें कहा गया है कि इसी प्रकार लखीमपुर में जिलाध्यक्ष प्रहलाद पटेल के नेतृत्व में पलिया के विधायक आवास का घेराव किया गया। गोण्डा, फर्रूखाबाद, बुलन्दशहर, फिरोजाबाद में जिलाध्यक्ष एवं कांग्रेसजनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर रोका। इसके अलावा झांसी, जालौन, अमरोहा, बांदा, और इटावा में कांग्रेसजनों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। इसी क्रम में बाराबंकी, फैजाबाद, बलरामपुर, श्रावस्ती, बस्ती, बहराइच, आगरा, हाथरस, कानपुर, उरई, बलिया, गाजीपुर, अम्बेडकरनगर, कुशीनगर, गोरखपुर, बरेली, शाहजहांपुर सहित प्रदेश के सभी जनपदों में कांग्रेस द्वारा इस प्रदर्शन कार्यक्रम का आयोजन किया गया।  

कंगना रनौत के बंगले में तोड़फोड़ मामले में मानवाधिकार आयोग ने BMC आयुक्त को किया तलब

गोरखपुर से प्राप्त समाचार के अनुसार गोरखपुर में किसान कानून के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने थाली ताली बजाकर बजाकर विरोध प्रदर्शन किया । कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने शहर के विधायक राधा मोहन अग्रवाल के घर को घेरने का प्रयास किया लेकिन पुलिस के हस्तक्षेप के बाद कार्यकर्ता अधिकारियों को ज्ञापन देकर वहां से चले गयें । 

 

 

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.