Saturday, Jul 20, 2019

गैरसैंण राजधानी आंदोलनकारियों के समर्थन में कांग्रेसी

  • Updated on 7/12/2019

गोपेश्वर: गैरसैंण राजधानी को लेकर अंदोलनकारियों को जेल भेजने के विरोध में शुक्रवार को कांग्रेस ने गैरसैंण में रैली निकाली। कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं ने  गैरसैंण पहुंचकर कहा कि हमें भी गिरफ्तार करें। कहा कि आंदोलनकारियों पर की गई कार्रवाई और गैरसैंण में खरीद-फरोख से रोक हटाकर वर्तमान सरकार ने गैरसैंण राजधानी न बनाए जाने का अपना दृष्टिकोण साफ कर दिया है। कांग्रेस नेताओं ने सरकार से बिना शर्त आंदोलनकारियों के मुकदमे वापस लेने और उन्हें रिहा करने की मांग उठाई है। 

शुक्रवार को सुबह साढे़ 11 बजे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, विधायक करन माहरा, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल, पूर्व डिप्टी स्पीकर डॉ. अनसूया प्रसाद मैखुरी, राजेंद्र भंडारी, सुरेंद्र सिंह बिष्ट, लखपत बुटोला, ललित फरस्वाण, मुकेश मंत्री सहित सैकड़ों कार्यकर्ता गैरसैंण पहुंचे। पत्रकारों से वार्ता करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि कांग्रेस सरकार की ओर से गैरसैंण में राजधानी बनाने के लिए मूलभूत सुविधाओं का विकास किया जा रहा था।

सरकार द्वारा राजधानी के सुनियोजित विकास के लिए यहां जमीनों की खरीद फरोख पर रोक लगाई गई थी। लेकिन वर्तमान सरकार के फैसले गैरसैंण राजधानी न बनाने के संकेत दे रहे हैं। जिसका पार्टी द्वारा विरोध किया जाएगा। कुंजवाल ने कहा कि गैरसैंण राजधानी राज्य आंदोलन के शहीदों का सपना था। जिसे साकार करना उत्तराखंडवासियों की जिम्मेदारी है। डा अनुसूया प्रसाद मैखुरी ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार द्वारा विधानसभा भवन का निर्माण कर भराडीसैंण में सचिवालय निर्माण का कार्य शुरु करवाया जा रहा था।

लेकिन वर्तमान सरकार ने यहां हो रहे कार्यों की गति को रोक दिया है। गैरसैंण रामलीला मैदान में कांग्रेस की ओर से जन सभा की जा रही है। जबकि योजना के अनुसार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता यहां आंदोलनकारियों के समर्थन में गिरफ्तारी देंगे। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.