Tuesday, Sep 27, 2022
-->
congress takes a dig at bjp modi govt on lower growth forecast rkdsnt

आर्थिक वृद्धि दर कम होने पर कांग्रेस का BJP पर कटाक्ष: क्या ये हैं ‘बहुत अच्छे दिन’ का संकेत

  • Updated on 4/8/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस ने भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से चालू वित्त वर्ष के आर्थिक वृद्धि दर अनुमान में कमी किए जाने को लेकर सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि क्या यह ‘बहुत अच्छे दिन’ का संकेत है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘‘वित्त वर्ष 2022-23 के आठवें दिन आरबीआई ने वृद्धि दर को 7.8 प्रतिशत से घटाकर 7.2 प्रतिशत कर दिया है। मुद्रास्फीति अनुमान को बढ़ाकर 5.7 प्रतिशत कर दिया है। क्या यह ‘बहुत अच्छे दिन’ का संकेत है?’’ 

महंगाई ने RBI गवर्नर शक्तिकांत दास के कान खड़े किए, बैकफुट पर आर्थिक वृद्धि

रूस-यूक्रेन युद्ध की वजह से कच्चे तेल की कीमतों में आए उतार-चढ़ाव और आपूर्ति श्रृंखला से जुड़ी अड़चनों की वजह से भारतीय रिजर्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष के लिए भारतीय अर्थव्यवस्था के वृद्धि दर अनुमान को 7.8 प्रतिशत से घटाकर 7.2 प्रतिशत कर दिया है। रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को चालू वित्त वर्ष की पहली द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा बैठक की घोषणा करते हुए कहा कि पिछले दो महीनों में ‘बाहरी’ घटनाक्रमों की वजह से घरेलू वृद्धि के नीचे जाने और मुद्रास्फीति के ऊपर जाने का जोखिम पैदा हुआ है।

एमनेस्टी इंडिया के अध्यक्ष आकार पटेल को अमेरिका जाने से फिर रोका गया

महंगाई के जरिये गरीबों पर जुल्म कर रही है मोदी सरकार: कांग्रेस 
कांग्रेस ने पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर शुक्रवार को आरोप लगाया कि केंद्र सरकार गरीबों पर जुल्म कर रही है।  पार्टी प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह दुर्भाग्य है कि महंगाई रूपी जुल्म गरीबों पर बढ़ रहा है। एक ताजा सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है जिसमें लोगों ने कहा है कि उन्हें कोविड से ज्यादा चिंता महंगाई से है।’’उन्होंने सर्वेक्षण का हवाला देते हुए दावा किया, ‘‘एलपीजी की प्रतिलीटर की कीमत में भारत सबसे ऊपर है। भारत पेट्रोल की प्रति व्यक्ति कीमत के मामले में तीसरे स्थान पर है और डीजल की प्रति व्यक्ति कीमत के मामले में आठवें नंबर का देश है।’’ 

मोहनदास पई ने लगाई PM मोदी से गुहार, हरकत में आए कर्नाटक के CM बोम्मई

 

कांग्रेस नेता ने कहा कहा कि यह कोई आम आंकड़ा नहीं है, बल्कि डराने वाला आंकड़ा है। उन्होंने सवाल किया कि दूसरे दूसरे देशों में जरूरी वस्तुओं की कीमतों में यह अंतर क्यों नजर नहीं आ रहा है? सिंघवी ने आरोप लगाया, ‘‘महंगाई को लेकर मोदी सरकार को कोई शर्म नहीं रह गई है। सब्जियों की कीमत इस कदर बढ़ गई है कि सब्जीवाले ने मुफ्त की मिर्च और धनिया देना बंद कर दिया है..इसलिए हमारा यह कहना है कि मोदी सरकार गरीबों पर जुल्म कर रही है।’’ 

RSS और मोदी विरोधी पार्टियों को साथ आना चाहिए, इस पर चर्चा जारी: राहुल गांधी

 

 


 

comments

.
.
.
.
.