Tuesday, Nov 30, 2021
-->
connecting-women-with-the-mainstream-is-essential-for-women-empowerment-governor-anandiben-patel

महिलाओं को मुख्यधारा से जोड़ना महिला सशक्तिकरण के लिए जरूरी-राज्यपाल आनंदीबेन पटेल

  • Updated on 10/18/2021

नई दिल्ली, (टीम डिजिटल):दिल्ली से सटे नोएडा में सोमवार को उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने महिला सशक्तिकरण, महिलाओं के उत्थान एवं विकास की मुख्यधारा से जोडऩे के उद्देश्य से कई कार्यक्रमों में भाग लिया। इस दौरान उन्होंने सेक्टर 125 स्थित एमेटी यूनिवर्सिटी में आंगनवाड़ी केंद्रों को सुविधा संपन्न बनाने उद्देश्य से किटों के वितरण के साथ गर्भवती महिलाओं की गोदभराई की। यहीं नहीं वृद्धा आश्रम और जिला कारागार में महिला कैदियों के लिए अपनी राजभवन निधि से जरूरत का सामान भी उपलब्ध कराया। इसके अलावा महिलाओं को सशक्त बनाने एवं उनके आर्थिक विकास के लिए आर्थिक मदद के चेक दिए। साथ ही प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ पात्र लाभार्थियों को गोल्डन कार्डों का वितरण किया। 

राज्यपाल ने टीबी उन्मूलन कार्यक्रम में सहयोग प्रदान कर रही संस्थाओं के प्रतिनिधियों को सम्मान प्रशस्ति पत्र वितरण किया। वहीं आंगनबाड़ी केंद्रों का सहयोग करने वाले इंजीनियरिंग कॉलेजों को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर उनका सम्मान किया। इस अवसर पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि जो महिलाएं किसी कारण वश जेल में प्रवास कर रही हैं। जब वह यहां से मुक्त होकर घर जाएंगी तो वह शांति पूर्वक जीवन की सीख लेकर जाएं। अपने आगे के जीवन को शांतिप्रिय रूप से मनाएं और अपने घर एवं परिवार के विकास के लिए विशेष योगदान दें। राज्यपाल ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को यशोदा मईया की संज्ञा प्रदान करते हुए कहा कि सभी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के द्वारा देश के भावी भविष्य को तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है, जो छोटे बच्चें आंगनबाड़ी केन्द्रों पर आ रहे वो भारत का कल का भविष्य है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन को आगे आकर जनपद के सभी 1108 आंगनबाड़ी केन्द्रों को सामाजिक सरोकार के माध्यम से सुविधा सम्पन्न बनाने की दिशा में कदम उठाना चाहिए, ताकि जनपद गौतमबुद्धनगर इस कार्य में प्रदेश में अग्रणीय स्थान प्राप्त कर सकें।

 

महिलाएं अपने बच्चों को पढ़ाने की दिशा में दें विशेष ध्यान

राज्यपाल ने कहा कि महिलाओं को स्वावलंबी बनाने एवं उनके आर्थिक उन्नति के उद्देश्य से महिला स्वयं सहायता समूह सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है, जिसके माध्यम से महिलाओं का निरंतर विकास संभव हो रहा है। उन्होंने इस अवसर पर सभी महिलाओं का यह भी आह्वान किया कि सभी महिलाएं अपने बच्चों को पढ़ाने की दिशा में विशेष ध्यान दें। इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष अमित चौधरी, पुलिस आयुक्त आलोक सिंह, डीसीपी पुलिस नोएडा जोन राजेश एस, एमेटी विश्वविद्यालय की उपकुलपति बलविन्दर शुक्ला, अपर जिलाधिकारी प्रशासन दिवाकर सिंह, नगर मजिस्ट्रेट गजेन्द्र सिंह, उपजिलाधिकारी सदर अंकित कुमार, दादरी अमित कुमार गुप्ता, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ सुनील कुमार शर्मा, जिला विकास अधिकारी गरिमा खरै समेत कई जिला प्रशासन और पुलिस अधिकारी मौजूद रहे। 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.