Thursday, Oct 29, 2020

Live Updates: Unlock 5- Day 28

Last Updated: Wed Oct 28 2020 03:36 PM

corona virus

Total Cases

7,990,643

Recovered

7,257,444

Deaths

120,067

  • INDIA7,990,643
  • MAHARASTRA1,654,028
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA809,638
  • TAMIL NADU714,235
  • UTTAR PRADESH474,054
  • KERALA402,675
  • NEW DELHI364,341
  • WEST BENGAL357,779
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA285,482
  • TELANGANA232,671
  • BIHAR213,383
  • ASSAM204,789
  • RAJASTHAN189,844
  • CHHATTISGARH179,654
  • GUJARAT169,073
  • MADHYA PRADESH168,483
  • HARYANA160,705
  • PUNJAB131,737
  • JHARKHAND100,224
  • JAMMU & KASHMIR92,677
  • CHANDIGARH70,777
  • UTTARAKHAND60,957
  • GOA42,747
  • PUDUCHERRY34,482
  • TRIPURA30,290
  • HIMACHAL PRADESH20,817
  • MANIPUR17,604
  • MEGHALAYA8,677
  • NAGALAND8,296
  • LADAKH5,840
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,274
  • SIKKIM3,863
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,227
  • MIZORAM2,359
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
contraceptive-injection-for-men

अरे वाह! अब पुरुषों के लिए आया गर्भनिरोधक इंजेक्शन, 13 साल रहें टेंशन फ्री

  • Updated on 1/14/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय वैज्ञानिकों ने आज एक बड़ी उपलब्धी हासिल की है। जनसंख्या नियंत्रण और अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए की गई एक रिसर्च में बड़ी कामयाबी मिली है। अब परुषों को नसबंदी नहीं करानी पड़ेगी क्योंकि अब वैज्ञानिकों ने ऐसा इंजेक्शन विकसित किया है जो 13 साल तक गर्भनिरोधक का काम करेगी।

इस इंजेक्शन का क्लिनिकल ट्रायल भी पूरा कर लिया गया है और इसकी रिपोर्ट स्वास्थ्य मंत्रालय को सौंप दी गई है ताकि जल्द ही इसे इस्तेमाल के लिए हरी झंडी मिल सके। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की अगुवाई में किए गए इस ट्रायल से देश की बढ़ती जनसंख्या पर भी काबू पाया जा सकेगा।

गजब! वर्ष 2021 तक अंतरिक्ष में होंगे भारतीय एस्ट्रोनॉट, दुनिया का चौथा देश बनेगा भारत

वैज्ञानिकों ने इस इंजेक्शन के शत प्रतिशत कारगर होने का दावा किया है। एक बार ये इंजेक्शन लगाने के बाद इसका असर अगले 13 सालों तक रहता है, मतलब 13 सालों तक आपको अनचाहे गर्भ से छुटकारा मिल जाएगा। ICMR के वैज्ञानिक डॉक्टर आर एस शर्मा ने बताया कि यह रिवर्सिबल इनबिशन ऑफ स्पर्म अंडर गाइडेंस (RISUG) है।

डॉक्टर शर्मा ने आगे बताया कि यह एक तरह का गर्भनिरोधक इंजेक्शन है जो पुरुषों को लगाया जाएगा, यह पूरी तरह सुरक्षित है। उन्होंने कहा अब तक पुरुषों को गर्भनिरोधक के लिए नसबंदी करानी पड़ती थी या तो महिलाओं को ऑपरेशन कराना पड़ता था। लेकिन अब एक इंजेक्शन लगाने के बाद ये दोनों ही समस्याएं खतम हो जाएंगी और अनचाहे गर्भ से भी बचा जा सकता है। हालांकि अभी इस इंजेक्शन की काट पर अभी खोज नहीं की जा सकी है, इसपर काम शुरु कर दिया गया है।

मकर सक्रांति पर क्यों खाते हैं खिचड़ी, जानिए इससे जुड़ी कहानी?

ऐसे करता है काम
इस इंजेक्शन के काम के बारे में डॉक्टर आर एस शर्मा ने बताया कि आईआईटी खड़गपुर के वैज्ञानिक गुहा ने इस इंजेक्शन में इस्तेमाल होने वाले ड्रग्स की खोज की थी। यह एक तरह का सिंथेटिक पॉलिमर है। जिस तरह नसबंदी के दौरान स्पर्म ट्रैवल करने वाले जिन दो नसों को काट कर पुरुष के स्पर्म को निष्क्रिय किया जाता है, उसी प्रकार यह इंजेक्शन उसी प्रोसीजर की तरह काम करता है। उन दोनों नसों में यह इंजेक्शन लगाया जाता है, इसका एक डोज 60 एमएल का होता है। इंजेक्शन में मौजूद ड्रग दोनों नसों में से एक में दिया जाता हो जो स्पर्म को निष्क्रिय कर देता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.