Friday, May 20, 2022
-->
corona-became-very-dangerous-in-4-weeks-health-ministry-said-this-prshnt

4 हफ्ते में बेहद खतरनाक हुआ कोरोना, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कही ये बात

  • Updated on 4/7/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने देश में कोरोना (Coronavirus) संक्रमण की दूसरी लहर को लेकर मंगलवार को सचेत करते हुए कहा कि आने वाले चार हफ्ते देश के लिए काफी जोखिम भरे हैं। मंत्रालय का अनुमान है कि अप्रैल के बाद हालात में कुछ सुधार संभव है। फिलहाल, देश के 10 जिलों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते हुए दिख रहे हैं। इन जिलों में सात जिले महाराष्ट्र, एक-एक जिला पंजाब, दिल्ली और छत्तीसगढ़ से शामिल हैं। कोरोना को लेकर मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्रालय और नीति आयोग की हुई संयुक्त प्रेस ब्रीफिंग में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि मौजूदा समय में महाराष्ट्र, पंजाब और छत्तीसगढ़ के हालात चिंताजनक हैं। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में स्थिति लगातार खराब होती जा रही है।

यहां फरवरी के दूसरे हफ्ते में रोजाना करीब 3000 नए मामले आते थे, अब बढ़कर 4400 प्रतिदिन हो चुके हैं। भूषण के मुताबिक महाराष्ट्र का आंकड़ा पूरे देश में आने वाले कोरोना के मामलों का 58 प्रतिशत है। यहां कोरोना से होने वाली मौत की संख्या भी पिछले दो महीनों में 32 से बढ़ कर 250 प्रतिदिन हो गई है, जो देश में हो रही कुल मौत का 34 प्रतिशत है। 

100 अरब डॉलर से ज्यादा बाजार पूंजीकरण : टाटा, रिलायंस के बाद अडाणी ग्रुप का नंबर

पंजाब में कोरोना की पॉजिटिविटी दर 8.8 प्रतिशत
महाराष्ट्र में पॉजिटिविटी दर भी 24 प्रतिशत हो गई है। केंद्रीय स्वास्थय सचिव ने बताया कि छत्तीसगढ़ में भी पिछले दिनों कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। यहां 6 प्रतिशत नए मामले रिपोर्ट किए जा रहे हैं जबकि 3 प्रतिशत मौत हो रही हैं। वहीं, पंजाब में कोरोना की पॉजिटिविटी दर 8.8 प्रतिशत है और मृत्यु दर देश के औसत का 4.5 प्रतिशत मौत है। उन्होंने कहा कि अच्छी बात तो यह है कि पंजाब में 76 प्रतिशत आरटी पीसीआर टेस्ट किया जा रहा है।

वहीं दिल्ली, हरियाणा, तमिलनाडु में भी मामले तेजी से बढ़े हैं। भूषण ने बताया कि महाराष्ट्र के 30, छत्तीसगढ़ के 11 और पंजाब के 9 जिलों में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने विशेषज्ञों की 50 टीमें भेजी है। हर टीम में दो सदस्य हैं। उन्होंने बताया कि पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना से बचाव के लिए 43 लाख लोगों को टीका दिया गया है जो अपने आप में रिकॉर्ड है।

बिना जानकारी महिला कैदियों के बच्चों को छात्रावास में रखा जा रहा है: एनसीपीसीआर

27 दिनों से नए मामलों में बढ़ोतरी
अब तक देश में 8.31 करोड़ लोगों को टीका दिया जा चुका है। इनमें 5.35 करोड़ टीका 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को लगाया जा चुका है। भारत में एक दिन में कोविड-19 के 96,982 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की कुल संख्या 1,26,86,049 हो गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में 446 और मरीजों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,65,547 हो गई। आंकड़ों के अनुसार, देश में लगातार 27 दिनों से नए मामलों में बढ़ोतरी के साथ ही उपचाराधीन मामलों की संख्या भी बढ़कर 7,88,223 हो गई, जो कुल मामलों का 6.21 प्रतिशत है।  

पीएम मोदी आज करेंगे परीक्षा पे चर्चा, 81 देशों के छात्र लेंगे भाग

प्रतिदिन लग रहे 26.22 लाख टीके
प्रेस कान्फ्रेंस में मौजूद नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने सचेत करते हुए कहा कि आने वाले चार हफ्ते देश के लिए काफी जोखिम भरे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर पर काबू पाया जा सकता है। लोगों को अब ज्यादा सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि नए मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसको रोकने के लिए राज्य सरकारों को भी अधिक सतर्कता बरतनी होगी। टीकाकरण कार्यक्रम पर संतोष व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि देश में अमरीका के बाद सबसे तेज गति से वैक्सीन लगाने का काम चल रहा है। अमरीका में प्रतिदिन 30 लाख से अधिक टीके लगाए जा रहे हैं। वहीं, भारत में 26.22 लाख टीके प्रतिदिन लग रहे हैं। 

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.