Sunday, Oct 17, 2021
-->
corona-calm-since-5-days-now-only-2-active-patients

 5 दिन से कोरोना शांत, अब सिर्फ 2 सक्रिय मरीज  

  • Updated on 9/11/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जिले में बीते पांच दिन से कोरोना शांत है, यानी गाजियाबाद में कोरोना का एक भी नए मरीज की पुष्टि नहीं हुई है। जिसके बाद सक्रिय मरीजों की संख्या भी 2 रह गई है। हालांकि इस बीच डेंगू, मलेरिया, स्क्रब टाइफस व बुखार के मामलों की संख्या बढ़ रही है।

कोरोना अप्रैल, मई माह में पीक पर था, स्थिति यह थी कि सरकारी से लेकर प्राइवेट कोविड अस्पतालों में मरीजों के लिए बेड नहीं मिल रहे थे। प्रतिदिन 50 से अधिक मरीज सामने आ रहे थे। लोगों को मजबूरन घर पर ही रहकर इलाज कराने पड़ा। जून माह से स्थिति में सूधार होने लगा। मरीजों की संख्या कम होने लगी। अब स्थिति यह है कि सरकारी से लेकर प्राइवेट अस्पताल तक खाली है। सितम्बर माह में ही अब तक एक मरीज की पुष्टि हुई है। जबकि बीते अगस्त में 26, जुलाई में 65 और जून में 324 मरीज मिले थे।

सितम्बर माह में पॉजिटिविटी रेट 0.02 फीसदी है जो जून में 0.23 फीसदी था। रिकवरी रेट भी 99.17 फीसदी है। इसी माह 6 सितम्बर से 10 सितम्बर तक कोरोना का एक भी मरीज नहीं मिला है। चिकित्सकों की मानें तो दूसरी लहर में अधिक संख्या में लोग इसकी चपेट में आए है। लेकिन इसके साथ ही लगातार वैक्सीनेशन होना और लोगों द्वारा कोविड के प्रति लापरवाही नहीं बरतना भी मरीजों की संख्या में कमी आना है।   
 

सैंपल की संख्या भी घटी
जिले में कोरोना का प्रकोप कम होने के साथ ही जांच भी कम हो रही है। बीते तीन माह की बात करें तो जून में 171737, जुलाई में 133121 और अगस्त में 120039 सैंपल लिए गए। जबकि प्रतिदिन करीब सात हजार सैंपल लेने का लक्ष्य है। सितम्बर में अब तक 45613 सैंपल ले चुके है। 
 

तीसरी लहर को लेकर तैयारी तेज 
दूसरी लहर का प्रकोप कम होने के बाद अब तीसरी लहर की आशंका जताई गई है। जिसके बाद जिले में तीसरी लहर को देखते हुए तैयारियां की जा रही है। बड़ों से लेकर बच्चों को इससे बचाव के लिए पीकू व आईसीयू वार्ड तैयार किए गए है। ऑक्सीजन की कमी को भी दूर करने के लिए सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाए गए है। 

डेंगू, मलेरिया व स्क्रब टाइफस के बढ़ रहे मामलें 
कोरोना के भले ही मरीज कम है, लेकिन डेंगू, मलेरिया व स्क्रब टाइफस लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। जिले में अब तक डेंगू के 72 मरीज, स्क्रब टाइफस के 24 और मलेरिया के दस मरीज मिल चुके है। वहीं वायरल बुखार भी लोगों को परेशान कर रहा है। डोर-टू-डोर सर्वे में एक हजार से अधिक बुखार के मरीज मिल चुके है। 
------

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.