Saturday, May 08, 2021
-->
corona lockdown passenger upset no phone sms airport when 630 flights cancel rkdsnt

SMS न फोन, एयरपोर्ट पहुंचे तब पता चला 630 उड़ानें रद्द, यात्रियों का हुआ बुरा हाल

  • Updated on 5/25/2020


नई दिल्ली/ब्यूरो। करीब 62 दिन बाद ईद के दिन शुरू हुई घरेलू उड़ानें जहां कई लोगों के लिए खुशियां लेकर आईं, वहीं तमाम यात्रियों के लिए परेशानी का भी सबब बनीं। तमाम यात्री अपने निर्धारित वक्त पर जब एयरपोर्ट पहुंचे तब उन्हें पता चला कि उड़ान रद्द हो गई है या रिशेड्यूल हो गई है। पहले दिन 630 उड़ानें रद्द की गईं। इसके चलते पूरे दिन उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ा। यात्रियों की शिकायत थी कि उन्हें उड़ान रद्द होने या रिशेड्यूल होने का न एसएमएस आया और न ही फोन।

कोरोना अस्पतालों पर लगे आरोपों की जांच के लिए गुजरात हाईकोर्ट ने बनाई कमेटी

नागरिक उड्डयन मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक जानकारों ने बताया कि सोमवार को कुल 1100 उड़ानों के लिए टिकट बुकिंग हुई थी। लेकिन ऐन वक्त पर 630 उड़ानें रद्द कर दी गईं। बताया गया कि पहले दिन विमानों को पर्याप्त यात्री नहीं मिले। इसके चलते कुछ शहरों की दो-तीन उड़ानों को क्लब करके रिशेड्यूल किया गया। कई उड़ानें इसलिए रद्द की गईं कि विमान उतरने की संबंधित राज्य सरकारों से मंजूरी नहीं मिली, जबकि विमानन कंपनियां उनके टिकट बुक कर चुके थे। जानकारी के मुताबिक पश्चिम बंगाल और आंध्रप्रदेश के लिए पहले दिन कोई उड़ान नहीं हुई। 

532 विमानों ने भरे परवाज, 630 उड़ानें कैंसिल हुईं

वहीं, मुंबई, चेन्नई तथा हैदराबाद जैसे बड़े शहरों के लिए सीमित उड़ानें हुईं। कई उड़ानों के रद्द होने से यात्रियों में भारी गुस्सा देखा गया। कुछ लोगों ने सोशल मीडिया पर अपने गुस्से का इजहार करते हुए नागरिक उड्डयन मंत्रालय की जमकर लानत-मलानत की। इस बीच केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि रविवार तक कोई घरेलू उड़ान नहीं थी और आज (सोमवार) को 532 उड़ानों से 39,231 यात्री अपने गंतव्य पहुंचे हैं। उन्होंने बताया कि आंध्रप्रदेश में मंगलवार से और पश्चिम बंगाल में 28 मई से उड़ान शुरू होने के साथ ही यात्रियों और उड़ानों की संख्या बढ़ेगी।

AAP ने भाजपा नेता गौतम गंभीर के लुडो, मनोज तिवारी के क्रिकेट खेलने पर उठाए सवाल


दिल्ली से रांची के लिए सुबह 6 बजे उड़ान भरने को एयरपोर्ट पहुंचे एक यात्री के मुताबिक जब वह सुबह 4 बजे बोर्डिंग के लिए पहुंचे, तब उन्हें बताया गया कि एयर इंडिया की उनकी उड़ान रिशेड्यूल करके शाम 5 बजे कर दी गई है। ऐसे ही कई और शहरों की उड़ानें यात्रियों को बिना पूर्व सूचना दिए रद्द कर दी गईं। यह आलम देश के लगभग हर उस हवाई अड्डे पर दिखा। दिल्ली से पोर्ट ब्लेअर, कोलकाता, हैदराबाद, मुंबई, इंदौर की सुबह की उड़ान रद्द की गई। गुवाहाटी की भी उड़ान रद्द हुई। 

हिमाचल प्रदेश की भाजपा सरकार ने लॉकडाउन को 30 मई के बाद भी बढ़ाया

जहां से सोमवार को उड़ानें शुरू हुईं। इसके चलते यात्रियों को पूरे-पूरे दिन एयरपोर्ट पर ही गुजारने पड़े। विमानों की उड़ानों को लेकर एयरपोर्ट पूछताछ काउंटर पर भारी भीड़ रही। जिनकी उड़ानें रद्द हुईं, उन्हें डिले सर्टिफिकेट पकड़ा दिया जा रहा है, ताकि वे अपना पैसा वापस ले सकें। तमाम यात्रियों को वापस घर भी लौटना पड़ा।

अलका लांबा बोलीं- कांग्रेस को जितना हो सके BSP की बहनजी को बेनक़ाब करना चाहिए


दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट (आईजीआई) से पहले दिन कुल 243 उड़ानों का संचालन किया गया। इसमें से 118 आने वाली हैं और 125 यहां से उड़ीं हैं। पहली उड़ान दिल्ली हवाई अड्डे से पुणे के लिए सुबह पौने पांच बजे उड़ान भरी जबकि मुंबई हवाई अड्डे से पहली उड़ान पौने सात बजे पटना के लिए भरी गई। 

कोरोना की वजह से नोएडा में Zee मीडिया की बिल्डिंग सील, कभी भूषण ने उठाए थे सवाल

पश्चिम बंगाल के कोलकाता और बागडोगरा हवाईअड्डे पर 28 मई से 20-20 विमानों का परिचालन शुरू होगा। वहीं आंध्रप्रदेश के विजयवाड़ा और विशाखापत्तनम हवाईअड्डे से 26 मई से लॉकडाउन के पहले की तुलना में सिर्फ 20 प्रतिशत उड़ानों का परिचालन होगा।

जावेद अख्तर ने कोरोना संकट में गिरफ्तारियों को लेकर अमित शाह पर साधा निशाना

मुंबई हवाई अड्डे पर प्रतिदिन 50 घरेलू उड़ानों और हैदराबाद हवाई अड्डे पर प्रतिदिन 30 घरेलू उड़ानों का परिचालन किया जायेगा। चेन्नई हवाई अड्डे पर अधिकतम 25 विमान उतर सकेंगे लेकिन वहां से उड़ान भरने वाले विमानों की कोई संख्या निर्धारित नहीं की गई है। इंडिगो के अध्यक्ष एवं मुख्य परिचालन अधिकारी वोल्फगैंग प्रोक शाउएर पहले दिन परिचालनों को देखने के लिए दिल्ली हवाईअड्डा पहुंचे। 

उन्होंने कहा कि एयरलाइन का संचालन सुगम रूप से हो रहा है और यात्री आरामदेह महसूस कर रहे थे क्योंकि सोमवार को भीड़ कम थी। उन्होंने कहा, हमने कुछ बोइंग गेट का दौरा किया। यात्रियों को नियमों की अच्छी जानकारी थी। केंद्रीय अधिकारियों और राज्यों से मिले कम समय के बावजूद, हमने सफलतापूर्वक जानकारी पहुंचाई।
इंडिगो एयरलाइंस के प्रवक्ता ने बताया कि उनके विमानों से करीब 20,000 यात्रियों ने सफर किया। एक प्रेस विज्ञप्ति में स्पाइसजेट ने कहा कि उसके पहले विमान ने सोमवार को अहमदाबाद से सुबह छह बजकर पांच मिनट पर उड़ान भरी और सात बजकर 10 मिनट पर दिल्ली पहुंचा। कंपनी ने यह भी बताया कि उसने क्षेत्रीय संपर्क की उड़ान योजना के तहत निर्धारित मार्गों पर सोमवार को 20 विमानों का परिचालन किया।

पूरी तैयारी के साथ पहुंचे यात्री
घरेलू उड़ानों को लेकर नागरिक उड्डयन मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशा निर्देशों को ध्यान में रखते हुए यात्री पूरी तैयारी के साथ हवाई अड्डों पर पहुंचे। मास्क, ग्लब्स, फेस प्रोटक्शन ग्लास के साथ ही फुल कवर पीपीई पहने हुए दिखे। एयरपोर्ट पर भी दुकानों पर ये सामग्रियां बिकती दिखीं। जिन यात्रियों के पास नहीं थे, वे वहां की दुकानों पर खरीदते दिखे।
 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.