Thursday, Aug 18, 2022
-->
corona-lockdown-rail-air-service-not-likely-to-start-after-may-3-health-ministry-will-decide-rkdsnt

कोरोना लॉकडाउन: 3 मई के बाद भी रेल और हवाई सेवा शुरू होने के आसार नहीं 

  • Updated on 4/19/2020


नई दिल्ली/सुनील पाण्डेय। देश में कोरोना वायरस संकट के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए भारतीय रेलवे की ट्रेनें और हवाई यात्रा सेवाओं को 3 मई के बाद भी चालू करने पर संशय बना हुआ है। मंत्रियों के समूह की बैठक में कहा गया कि इस बारे में स्वास्थ्य मंत्रालय की राय पर ही अंतिम निर्णय होगा। जीओएम लॉकडाउन खत्म होने के साथ ही तुरंत ट्रेनों के शुरू करने के पक्ष में कतई नहीं है। इसको लेकर चर्चा भी हुई है।

कोरोना वायरस से संक्रमित 2231 लोग हुए ठीक, अस्पतालों से मिली छुट्टी

स्वास्थ्य मंत्रालय की राय पर होगा अंतिम फैसला

सूत्रों की माने तो जीओएम फिलहाल यात्री गाडिय़ां शुरू करने के पक्ष में नहीं है, क्योंकि उनका मानना है कि रेल गाडिय़ों में सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन संभव नहीं हो पाएगा। लिहाजा, 3 मई तक के वर्तमान हालात तय करेंगे कि कोरोना का फैलाव और ज्यादा बढ़ता है या नहीं। उसी के अनुसार यात्री ट्रेनों को चलाने पर विचार किया जा सकता है।
जबकि, सरकारी एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया तथा अन्य निजी एयरलाइंस को 3 मई के बाद बुकिंग न करने को तैयार हैं।

प्रियंका बोलीं- मजदूरों को इस तरह नहीं छोड़ सकते, उन्हें उनके घर पहुंचाए सरकार

 

लेकिन आज केंद्र सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि देश में घरेलू उड़ानें और अंतरराष्ट्रीय उड़ानें जल्द शुरू होने की संभावना नहीं है। हालांकि, एयर इंडिया और इंडिगो ने चार मई से उड़ाने शुरू करने की मंशा जाहिर की है। इस बीच, नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने एक दिन पहले शनिवार को एयरलाइनों से साफ तौर पर कहा है कि फिलहाल इस बारे में सरकार ने कोई निर्णय नहीं लिया है। 

कोरोना के बढ़ते संकट को देखते हुए मंत्रियों का समूह तैयार नहीं
इसलिए टिकटों की बुकिंग तभी शुरू करें जब सरकार यात्री विमानों की उड़ानों को हरी झंडी दे दे। पुरी ने ट्वीट कर कहा कि नागर विमानन मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि घरेलू या अंतरराष्ट्रीय परिचालन शुरू करने के लिए अभी तक कोई फैसला नहीं लिया गया है। उन्होंने कहा कि एयरलाइनों को सलाह दी जाती है कि इस बारे में सरकार द्वारा कोई फैसला किये जाने के बाद ही वे अपनी बुकिंग शुरू करें।

प्रवासी मजदूर एक राज्य से दूसरे राज्य नहीं जाएंगे, मोदी सरकार का राज्यों को निर्देश

बता दें कि कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए इसके संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 3 मई तक के लिए देशभर में लॉकडाउन को बढ़ाने का फैसला लिया था। लॉकडाउन के मद्देनजर भारतीय रेलवे ने सभी 13 हजार से अधिक यात्री ट्रेन सेवाओं के तीन मई तक रद्द कर दिया है। 

कोरोना में राहत : 20 अप्रैल से कृषि समेत इन कारोबारी क्षेत्रों में मिलेगी लॉकडाउन में छूट

घरेलू यात्री उड़ानों पर कोई निर्णय नहीं : सरकार

लॉकडाउन में ई-कॉमर्स कंपनियों को सिर्फ जरुरी वस्तुओं की डिलिवरी की इजाजत

 इसमें भारतीय रेलवे द्वारा जारी निर्देश में प्रीमियम ट्रेनें, मेल एक्सप्रेस ट्रेनें, पैसेंजर ट्रेनें, उपनगरीय ट्रेनें, कोलकाता मेट्रो रेल, कोंकण रेलवे आदि सहित सभी यात्री ट्रेन सेवाएं 3 मई तक पूरी तरह से कैंसिल हैं। इस दौरान भारतीय रेलवे की सिर्फ मालगाडिय़ा ही चल रही हैं, वह भी आवश्यक खाद्य सामानों की आपूर्ति के लिए। हालांकि, रेलवे ने माल ढुलाई से भी एक रिकार्ड कायम किया है, और करोड़ों रुपये की कमाई भी किया है। 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

comments

.
.
.
.
.