Thursday, May 13, 2021
-->
corona new strain modi govt ban on uk airline extended till 7 january pragnt

कोरोना का असर: भारत सरकार का बड़ा फैसला, UK की विमान सेवा पर रोक 7 जनवरी तक बढ़ी

  • Updated on 12/30/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारत समेत दुनिया भर के कई देश कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी से जूझ रहे हैं। वहीं अब ब्रिटेन (Britain) में मिले कोरोना के नए स्ट्रेन (Corona New Strain) ने हाहाकार मचाया हुआ है। ऐसे में भारत सरकार (Indian Government) ने ब्रिटेन से आने वाली सभी फ्लाइट्स पर 31 दिसंबर तक के लिए रोक लगा दी थी। लेकिन अब भारत में कोरोना का नया स्ट्रेन पैर पसारता हुआ दिख रहा है। जिसे देखते हुए सरकार ने यूके की विमान सेवा पर लगी अस्थायी रोक 7 जनवरी तक बढ़ी दी है।

Delhi Corona Bulletin: काबू में कोरोना! 24 घंटे में 703 नए केस, 28 ने गंवाई जान

विमान सेवा पर रोक 7 जनवरी तक बढ़ी
केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) ने बुधवार को बताया कि यूनाइटेड किंगडम से आने और जाने वाली सभी उड़ानों पर लगी अस्थायी रोक को बढ़ाकर 7 जनवरी 2021 तक किया गया है। उन्होंने कहा कि इसके बाद भी 'कड़े नियमों' के तहत इनका संचालन किया जाएगा।

पुरी ने ट्वीट किया, 'ब्रिटेन से विमानों की आवाजाही को सात जनवरी 2021 तक स्थगित करने का फैसला किया गया है।' उन्होंने कहा, 'इसके बाद कड़े विनियमित तरीके से इसका संचालन शुरू किया जाएगा, जिसकी घोषणा जल्द की जाएगी।'

भारत की सीपेक में हिस्सेदारी पर महबूबा मुफ्ती ने दिया विवादित बयान

पहले 31 दिसंबर तक लगी थी रोक
बता दें कि नागर विमानन मंत्रालय ने पिछले हफ्ते घोषणा की थी कि वायरस के ज्यादा संक्रामक नए स्वरूप (स्ट्रेन) के सामने आने की वजह से यूरोपीय देश और भारत के बीच विमानों की आवाजाही 23 दिसम्बर से 31 दिसम्बर तक स्थगित रहेगी। भारत सरकार ने ब्रिटेन से आने वाली सभी फ्लाइट्स पर 31 दिसंबर तक के लिए रोक लगा दी थी। जिसके बाद क्रिसमस और नये साल के अवसर पर देश आकर अपने परिवार के साथ समय गुजारने का भारतीय छात्रों और पेशेवरों का सपना सोमवार से ब्रिटेन से उड़ानों का परिचालन बंद होने के साथ ही टूट गया।

भारत में कोरोना का नया स्ट्रेन, ब्रिटेन से लौटे 20 लोगों में मिले लक्षण

उड़ानें बंद होने के कारण फंसे लोग 
दुनिया भर में पैर पसार रहे कोरोना वायरस से नये स्वरूप के ब्रिटेन के कुछ हिस्सों में मिलने के बाद सभी उड़ानें बंद कर दी गई हैं। संभव है कि विश्वविद्यालयों द्वारा दिसंबर की शुरुआत में जांच के बाद परिसर से जाने की अनुमति मिलने के बाद कुछ छात्र भारत लौट गए हों, लेकिन कुछ ने क्रिसमस-नए साल के दौरान अपनी टिकट बुक की होगी। हालांकि, पर्यटक वीजा अभी काफी हद तक निलंबित ही हैं, लेकिन परिवार से मिलने या पारिवारिक कारणों से ब्रिटेन गए लोग भी उड़ानें बंद होने के कारण वहां फंस गए हैं।

कोविड के नए स्वरुप को लेकर वैज्ञानिकों ने कहा- घबराने की जरुरत नहीं

भारतीय उच्चायोग ने कही ये बात
ब्रिटेन में भारतीय छात्रों का प्रतिनिधित्व करने वाला समूह, नेशनल इंडियन स्टूडेंट्स् एंड एलुमनी यूनियन, ब्रिटेन की प्रमुख सनम अरोड़ा ने कहा, 'ब्रिटेन आने-जाने वाले भारतीय छात्रों के लिए चिंता की बात है।' लंदन में भारतीय उच्चायोग ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कई संदेश पोस्ट किए हैं, साथ ही भारत के नागर विमानन मंत्रालय के अपडेट भी डाले हैं। भारत से ब्रिटेन आने वाली उड़ानों को क्या लैंड करने की अनुमति होगी, तमाम लोगों द्वारा यह सवाल किए जाने पर उच्चायोग ने एक बयान जारी किया है, 'यह निलंबन 22 दिसंबर, 2020 की रात 11:59 से प्रभावी होगा। इस कारण उक्त अवधि में भारत से ब्रिटेन जाने वाले सभी उड़ानें निलंबित रहेंगी।'

ब्रिटेन से ओडिशा आया बच्चा निकला कोरोना पॉजिटिव, नए स्ट्रेन की जांच के लिए भेजा सैंपल

31 दिसंबर 2020 की रात तक सभी उड़ाने बंद
कोरोना वायरस महामारी के दौरान दुनिया भर से फंसे हुए लोगों को भारत वापस लाने के लिए 'वंदे भारत' मिशन के तहत एयर इंडिया द्वारा संचालित उड़ानों ने भी तत्काल सभी टिकट रद्द करने की पुष्टि की है। बयान में कहा गया है, '22 दिसंबर, 2020 की रात 11:59 से 31 दिसंबर, 2020 की रात 11:59 तक ब्रिटेन से आने-जाने वाले सभी उड़ानें रद्द करने के नागर विमानन मंत्रालय के निर्देश के तहत इस दौरान ब्रिटेन के लिए एअर इंडिया की कोई उड़ान संचालित नहीं होगी।

साल 2021 में मास्क की तरह वैक्सीन पासपोर्ट भी दिखाना हो सकता है जरूरी? जानिए क्या है ये Passport

भारत में कोरोना की स्थिति
देशभर में कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है। भारत में कोरोना से 1,02,45,326 लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं इस वायरस की चपेट में आने से अब तक 1,48,475 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। हालांकि, राहत की बात ये है कि 98,33,339 इस वायरस को मात देकर ठीक हो चुके हैं। देश में कोरोना को मात देकर ठीक होने वालों की संख्या सक्रिय मामलों की संख्या से अधिक है। सक्रिय मामलों की कुल संख्या 2,60,678  है।

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.