Tuesday, Oct 19, 2021
-->
corona positive report should not be sought for hospitalization delhi high court kmbsnt

अस्पताल में भर्ती करने के लिए कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट न मांगी जाए- दिल्ली हाईकोर्ट

  • Updated on 4/28/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अस्पतालों में कोरोना वायरस के लक्षण वाले मरीजों को भर्ती करने के दौरान कोरोना की पॉजिटिव जांच रिपोर्ट ना मांगने का निर्देश दिल्ली हाईकोर्ट ने जारी किया है। कोर्ट ने साफ कहा है कि इस मुद्दे पर दिल्ली सरकार द्वारा जारी सर्कुलर का पालन किया जाए।

मुख्य न्यायाधीश डीएन पटेल और न्यायमूर्ति जसमीत सिंह की खंडपीठ ने कहा कि 23 अप्रैल को दिल्ली सरकार ने सर्कुलर जारी कर सभी अस्पतालों को सभी मरीजों को भर्ती करने व उनसे कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट ना मांगने को कहा था। कोर्ट ने सरकार को भी अपने सर्कुलर का व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार करने को कहा है।

दिल्ली के लिए बैंकॉक से 18 टैंकर और फ्रांस से 21 ऑक्सीजन प्लांट मंगवा रही केजरीवाल सरकार

कोरोना जांच केंद्रों की संख्या बढ़ाने के निर्देश
इसके साथ ही कोर्ट ने संक्रमित मरीजों की संख्या को देखते हुए कोरोना जांच केंद्रों की संख्या बढ़ाने और उसी के अनुसार सभी लैब की क्षमता बढ़ाने का निर्देश दिया है। अधिवक्ता जयदीप अहूजा की जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया गया है।

मरीजों को रही रिपोर्ट लाने में दिक्कत
याचिका में दिल्ली सरकार के सभी अस्पतालों को कोरोना वायरस के लक्षण वाले रोगियों को भर्ती करते समय कोरोना की पॉजिटिव जांच रिपोर्ट ना मांगने का निर्देश देने का आग्रह किया गया था। याचिकाकर्ता ने बताया कि मरीजों व उनके परिजनों को परेशानी हो रही है।

दिल्ली के मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट कामरान खान का कोरोना से निधन

यूपी सरकार ने भी जारी किया है ये आदेश 
इतना ही नहीं उत्तर प्रदेश सरकार ने भी इस तरह का आदेश जारी किया है, जिसके तहत मरीजों को भर्ती करते समय अस्पतालों को कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट न मांगी को कहा गया है। दिल्ली सरकार ने कहा है कि मरीजों को संदिग्ध मानकर अस्पताल के एक अलग जगह पर भर्ती करने का निर्देश दिया गया है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.