Wednesday, Mar 22, 2023
-->
corona-returning-back-after-china-corona-positive-case-also-found-in-india-prsgnt

सावधान! वापस लौट रहा है कोरोना, भारत में भी मिले दोबारा कोरोना पॉजिटिव केस

  • Updated on 4/18/2020

नई दिल्ली/प्रियंका। कोरोना के वापस लौटने के बारे अब तक सिर्फ अंदेशा ही लगाया जा रहा था लेकिन हाल ही में चीन और दक्षिण कोरिया में कोरोना के मरीज फिर से मिले हैं।

इस बारे में हांगकांग यूनिवर्सिटी के महामारी विशेषज्ञ बेल काउलिंग पहले ही कह चुके थे कि अप्रैल के लास्ट तक चीन में एक बार फिर कोरोना वायरस वापस आएगा। उन्होंने यह भी कहा था कि चीन में अप्रैल के अंत तक कोरोना फिर तबाही मचा सकता है।

चीन ने क्यों छुपाया कोरोना वायरस का सच! जानिए क्या है इसके पीछे की असली वजह...

चीन में लौटा कोरोना
हालिया जानकारी के अनुसार चीन और साउथ कोरिया में कोरोना के कुछ मामले फिर से सामने आए हैं। ये मामले उन्ही लोगों से जुड़े हैं जो पहले कोरोना से ठीक हो चुके थे। कोरोना से ठीक ओ चुके लोगों का जब दोबारा टेस्ट लिया गया तो उनमें एक बार फिर कोरोना पॉजिटिव मिला है। बताया जा रहा है कि चीन के वुहान से ही 89 नए केस सामने आए हैं, ये वही लोग हैं जो ठीक होने के बाद दोबारा कोरोना संक्रमित हुए हैं।

मिल गया कोरोना का इलाज! इस विटामिन की डोज से ठीक हो रहे हैं कोरोना के मरीज

दक्षिण कोरिया में 91 केस
चीन की तरह ही दक्षिण कोरिया में भी कोरोना वापस लौटा है। यहां 91 ऐसे मामले सामने आए हैं जिनमें ठीक होने के बाद दोबारा कोरोना हुआ है। बताया जा रहा है कि साउथ कोरिया में 8 हजार लोगों को ठीक करने के बाद घर भेज दिया गया था लेकिन लोगों में अब फिर से कोरोना संक्रमण देखा जा रहा है जिससे स्थिति बेहद खतरनाक होने वाली है। अगर ऐसा होता रहा तो हालात बेकाबू हो जायेंगे।

कोरोना वायरस: भारतीयों में है कोरोना को हराने की शक्ति, पढ़ें स्पेशल रिपोर्ट

भारत में दिखे वापसी के लक्षण
चीन और दक्षिण कोरिया में ही नहीं कोरोना वापसी के मामले भारत में सामने आए हैं। यूपी के नोएडा के दो मरीजों की कोरोना निगेटिव जांच आने के बाद उन्हें घर भेज दिया गया था लेकिन अब उनमें कोरोना संक्रमण पनपने से उन्हें दोबारा अस्पताल में भर्ती किया गया है। डॉक्टर यह देख कर हैरान है।

क्या है हर्ड इम्युनिटी, जो कर सकती है कोरोना वायरस के डर का खात्मा!

नहीं मिलते लक्षण
बताया जा रहा है कि जिन लोगों को दोबार संक्रमण हो रहा है उनमें ठीक होने के बाद कोई भी कोरोना लक्षण नहीं दिखते हैं। उनके दोबारा पॉजिटिव होने का पता तभी चलता है जब उनका कोरोना टेस्ट किया जाता है, वो भी तब जब उन्हें सांस लेने में दिक्कत होने लगती है। विशेषज्ञ इस चरण को कोरोना महामारी का अंतिम चरण कहते हैं।

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए दुनिया को दक्षिण कोरिया से सीखना होगा

कैसे होगा बचाव
विशेषज्ञों की माने तो इसका बचाव यही है कि हम सभी अपनी आदतों में हाथ-धोना हमेशा शामिल रखें। हाथों, फेस, खुले शरीर को संक्रमण से बचाने के लिए सैनीटाइज करें। फेस मास्क का हमेशा इस्तेमाल करें। बाहर और घर में भी संक्रमण से बचने के लिए खास साफ़ सफाई रखें। लोगों से दूरी बना कर रखें। बीमार लोगों से दूर रहें।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.