Thursday, Apr 15, 2021
-->
Corona Vaccine door to door survey and training vaccinated prshnt

Corona Vaccine: राज्य कर रहे कोल्ड चेन-भंडारण की तैयारी, घर-घर होगा सर्वे और प्रशिक्षण से टीकाकरण

  • Updated on 12/10/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दुनिया में कोरोना (Coronavirus) का प्रकोप जारी है इसी बीच कोरोना से लड़ाई में अब वैक्सीन का इंतजार जल्द ही खत्म होने वाला है। कई राज्यों में घर-घर सर्वे और प्रशिक्षण कार्यक्रमों के जरिए कोरोना वैक्सीन के टीकारण की तैयारी शुरू हो गई है। कोरोना वैक्सीन को किस तरह से लोगों तक पहुंचाया जाएगा इसकी राज्य सरकार तैयारी कर रहे हैं।

उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, झारखंड, उत्तराखंड समेत विभिन्न राज्य सरकारों ने टीके के भंडारण और स्वास्थ्यकर्मियों के प्रशिक्षण के लिए योजनाएं बनानी शुरू कर दी हैं। वहीं दूर-दराज के गांवों तक टीका पहुंचाने में लगने वाले सभी संसाधन और टीके के भंडारण जैसे अहम तैयारी किए जा रहे हैं।

सावधान! वैक्सीन लगाने के बाद भी हो सकता है कोरोना, लगाना ही पड़ेगा मास्क

पहले चरण में 20 लाख लोगों को टीका
उत्तराखंड में कोरोना टीकाकरण के लिए बुधवार से स्वास्थ्यकर्मियों का प्रशिक्षण शुरू हो गया। यहां कैबिनेट की बैठक में पहले चरण में 20 लाख लोगों को टीका लगाने का निर्णय लिया गया है। टीकाकरण के लिए 93 हजार स्वास्थ्य कर्मियों का डाटा तैयार किया गया है। उत्तराखंड में टीकाकरण के लिए जरूरी डाटाबेस जिलावार तैयार किया जा रहा। साथ ही यहां दिल्ली से आए दो स्टेट ट्रेनर स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षण दे रहे हैं। 

प्रधानमंत्री मोदी ने भूमि पूजन कर किया नये संसद भवन का शिलान्यास, जानें खासियत

उत्तर प्रदेश में जिला और सीएमओ स्तर पर टास्क फोर्स
वहीं कोल्ड चेन के लिए फ्रीजर मंगाए जा रहे हैं। वैक्सीन को सुरक्षित रखने के लिए रांची के नामकुम में स्टेट वेयरहाउस में व्यवस्था की गई है और जमशेदपुर के क्षेत्रीय केंद्र में भी व्यवस्था की गई है। इसके अलावा गुजरात में गुरुवार से घर-घर सर्वे कराकर 50 साल से अधिक और कम उम्र के लोगों की जानकारियां जुटाई जाएंगी और उत्तर प्रदेश में राज्य में जिला और सीएमओ स्तर पर टास्क फोर्स बनाकर उन लोगों का चयन कर लिया गया है, जिन्हें टीका लगाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

वहीं राजस्थान में टीकाकरण के लिए 2,444 कोल्ड चेन प्वाइंट चयनित किए गए हैं जो कि जिला अस्पतालों व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में होंगे। वहीं महाराष्ट्र में वैक्सीन के भंडारण के लिए जरूरी डीप फ्रीजर, स्वास्थ्यकर्मियों की ट्रेनिंग के लिए योजना तैयार कर ली है। 

Bengal में BJP अध्यक्ष नड्डा के काफिले पर हुए हमले के पीछे ममता बनर्जी का हाथ- शिवराज

27000 कोल्ड स्टोरेज की फिलहाल भारत में क्षमता
बता दें कि भारत में कोरोना के टिकाकरण के लिए कई चुनौतिया सामने है। 25 करोड़ लोगों का टीकाकरण करने की योजना है जुलाई तक है। 50 करोड़ डोज अगले साल जुलाई तक बनाने की योजना है। 27000 कोल्ड स्टोरेज की फिलहाल भारत में क्षमता है। 80 लाख स्थानों पर टीकों को पहुंचाया जाता है भारत में पूरी दुनिया की तुलना में 60 फीसदी वैक्सीन बनती है। एक अरब सीरींज बनाने का लक्ष्य अगले साल तक तय किया गया है।

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.