Tuesday, Jun 28, 2022
-->
Corona virus Covid 19 crude oil petrol diesel SOBHNT

कच्चे तेल की कीमत पानी से भी हुई कम, नहीं है कोई खरीदने वाला

  • Updated on 4/21/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना के प्रभाव को कम करने के लिए देश के साथ पूरी दुनिया में इस समय लॉकडाउन लगा हुआ है। जिसका असर यह है कि लोगों का सड़कों पर निकलना बंद हो गया है। लोग अपने घर पर ही बैठे हैं। जिस कारण दुनियाभर के बाजारों में कच्चे तेल की मांग नहीं है। हालत यह हो गई हैं कि अमेरिका में कच्चे तेल की कीमत बोतल बंद पानी से भी ज्यादा कम हो गई है। बता दें अमेरिका मे यह पानी से 77 पैसे प्रति लीटर सस्ता हो गया है। 

World Corona : दुनिया में कोरोना से 1.69 लाख मौत, 24.72 लाख से ज्यादा हुए केस

ऐसे गिरे दाम
गौरतलब है कि इस साल की शुरुआत में 67 डॉलर प्रति बैरल यानी 30.08 रुपए प्रति लीटर था। वहीं 12 मार्च को इसके दाम 38 डॉलर प्रति बैरल यानी 17.79 रुपए प्रति लीटर थे। यह वह समय था जब भारत में कोरोना की शुरुआत हुई थी। वहीं 1 अप्रैल आते-आते इसकी कीमत गिरकर 23 डॉलर प्रति बैरल यानी प्रति लीटर 11 रुपए पर गई है। 

अब अगले साल खुलेंगे अमेरिका के स्कूल-कॉलेज, सिर्फ ऑन लाइन क्लासेस से होगी पढ़ाई

क्यों आई गिरावट
बता दें ऐसी गिरावट कच्चे तेल में 1986 के बाद आई है। फिलहाल इसका कारण कोरोना वायरस की वजह से लगाया गया लॉकडाउन है। लॉकडाउन की वजह से लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं। जिसका असर यह हो रहा है कि भारत जैसे बड़े आयातक देश तेल नहीं खरीद रहे हैं। क्योंकि अभी उनको इसकी जरुरत नहीं है। जबकि तेल कंपनियों ने मई महीने के तेल का उत्पादन कर लिया है। जिसे खरीदने को कोई तैयार नहीं। इसी वजह से तेल के दामों में यह ऐतिहासिक गिरावट हुई है।

कोरोना पीड़ित पिता के इलाज के लिए बेटी ने लगाई गुहार, बग्गा के साथ केजरीवाल सक्रिय

भारत की स्थिति
लेकिन इसका मतलब यह बिलकुल नहीं है कि भारत में आपको कच्चा तेल सस्ता मिलेगा। भारत में कच्चे तेल के दाम 1 अप्रैल को बेस प्राइस 27.96 रुपए था। जिसमें 22 रुपए 98 पैसा एक्साइज ड्यूटी 3 रुपए 55 पैसे डीलर का कमीशन तो वहीं 14 रुपए 97 पैसे वैट प्राइस के बाद आपको 69 रुपए 28 पैसे मिलेगा।   



यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

comments

.
.
.
.
.