Thursday, Jan 27, 2022
-->
corona virus new variant omicron in india karnataka aap kejriwal regret on modi bjp govt rkdsnt

कोविड के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन ने दी भारत में दस्तक, केजरीवाल ने जताया अफसोस

  • Updated on 12/2/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोविड 19 के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) ने भारत में दस्तक दे दी  है। ओमिक्रॉन के 2 मामले भाजपा शासित कर्नाटक में मिले हैं। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय का कहना है कि देश में कोविड के स्‍ट्रेन ओमिक्रॉन के मामले की पुष्टि ने चिंता बढ़ा दी है। दोनों ही मामले कर्नाटक में रिपोर्ट हुए हैं। एक मरीज 66 और दूसरे 46 वर्ष की उम्र का है। इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नए वेरिएंट आने पर चिंता जाहिर की है। 

SBI ने किसानों को ऋण देने के लिए अडाणी कैपिटल के साथ मिलाया हाथ

 

इस वेरिएंट को लेकर केजरीवाल ने केंद्र से प्रभावित देशों की फ्लाइट बंद करने की गुजारिश की थी। अपने ताजा ट्वीट में केजरीवाल लिखते हैं, यह दुखद है कि हम प्रभावित देशों की फ्लाइट्स को नहीं रोक पाए। उधर, स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने भी कर्नाटक में दो ओमिक्रॉन मामलों की पुष्टि की है। साथ ही कहा है कि कोरोना पीड़ितों को पहचान लिया गया है और दोनों में मामूली लक्षण देखने को मिले हैं। दोनों का इलाज किया जा रहा है। 

हवाई अड्डों पर 11 देशों से आने वाले यात्रियों की जांच शुरू : सिंधिया 
नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बृहस्पतिवार को कहा कि कोरोना वायरस के नये स्वरूप ‘ओमीक्रोन’ के खतरे की आशंका को देखते हुए ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका और इजरायल समेत 11 देशों से आने वाले लोगों की हवाई अड्डों पर जांच शुरू की गई है। लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान मनीष तिवारी, ङ्क्षचता अनुराधा और कुछ अन्य सदस्यों के पूरक प्रश्नों के उत्तर में सदन को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, ‘‘ओमीक्रोन को लेकर पूरा विश्व सचेत हो चुका है। 31 देशों के साथ अंतरराष्ट्रीय हवाई यातायात समझौता (एयर बबल एग्रीमेंट) हैं, 10 देशों के साथ समझौते का प्रस्ताव है...हमें स्वास्थ्य और परिवाहन सेवा की सुविधा के बीच संतुलनक बनाकर रखना होगा।’’ 

वायु प्रदूषण : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र, दिल्ली सरकार से मांगे 24 घंटे के भीतर सुझाव 

सिंधिया ने बताया कि ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका, इजरायल समेत 11 देशों से आने वाले लोगों की हवाई अड्डों पर स्वास्थ्य जांच की सुविधा शुरू की गई है। उन्होंने कहा, ‘‘11 देशों को जोखिम के पैमाने पर रेखांकित किया गया। इसकी जांच कल शुरुआत हो गई। विभिन्न हवाई अड्डों पर कल विदेश से आने वाले साढ़े पांच हजार लोगों की जांच की गई।’’ सिंधिया ने कहा, ‘‘कोविड के माहौल में मार्च, 2020 में विश्व भर में आमागन की सुविधाएं बंद की गई थी। सात मई को वंदे भारत की सुविधा शुरू की गई। अब तक 1.83 करोड़ लोग इस सुविधा के जरिये वापस आए और यहां से अपने घर वापस जा सके।’’ 

दिल्ली हवाई अड्डे पर 4 और संक्रमण की पुष्टि 
इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 'जोखिम वाले’’ देशों से पहुंचे चार और यात्रियों की जांच में बृहस्पतिवार को कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। एक अधिकारी ने बताया कि बीती रात लगभग 12 बजे एयर फ्रांस की उड़ान से आए 243 लोगों में से तीन की जांच में संक्रमण की पुष्टि हुई है। अधिकारी ने बताया कि लंदन से आई एक उड़ान में 195 अन्य यात्रियों के साथ आए एक व्यक्ति की जांच में भी संक्रमण पाया गया है। इन यात्रियों के नमूनों को राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र के पास यह पता करने के लिए भेजा गया है कि क्या यह संक्रमण कोरोना वायरस के नये स्वरूप ‘ओमीक्रोन’ का है या नहीं। वायरस के इस स्वरूप को विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा ‘चिंताजनक प्रकार’ घोषित किया गया है। 

BJP में शामिल हुए सिरसा पर अकाली दल ने बोला हमला, कहा- खालसा पंथ के साथ किया विश्वासघात

मंगलवार की रात से देश में अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए कड़े नियम लागू होने के बाद से च्च्जोखिम वाले’’ देशों से अब तक कुल आठ लोगों की जांच में संक्रमण पाया गया है। संक्रमित आठ यात्रियों और कोविड जैसे लक्षणों वाले’’ दो अन्य यात्रियों को लोक नायक अस्पताल में भर्ती किया गया है जहां ऐसे मरीजों के उपचार के वास्ते एक अलग वार्ड बनाया गया है। केंद्र के अनुसार, जोखिम वाले देशों में ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बोत्सवाना, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, जिम्बॉब्वे, सिंगापुर, हॉन्गकॉंग और इजराइल आदि हैं। 

महाराष्ट्र में संशोधित हवाई यात्रा दिशानिर्देश जारी करेगा : मंत्री 
महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बृहस्पतिवार को कहा कि कोरोना वायरस के नए स्वरूप ‘ओमीक्रोन’ को लेकर बढ़ती ङ्क्षचताओं के बीच घरेलू हवाई यात्रा के लिए संशोधित दिशानिर्देश राज्य सरकार अगले कुछ दिनों में जारी करेगी। केंद्र सरकार ने एक दिन पहले राज्यों को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के मुताबिक कदम उठाने का निर्देश दिया, जिसके बाद टोपे का यह बयान सामने आया। महाराष्ट्र ने राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा मंगलवार रात जारी दिशा-निर्देशों के तहत ‘जोखिम वाले’ देशों से राज्य में आने वाले यात्रियों के लिए सात-दिवसीय संस्थागत पृथक-वास अनिवार्य कर दिया है। 

संबित पात्रा को ONGC के बाद भारत पर्यटन विकास निगम में मिला अहम पद 

ऐसे यात्रियों की आगमन के दूसरे, चौथे और सातवें दिन आरटी-पीसीआर जांच भी होगी। अगर व्यक्ति कोविड-19 से ग्रसित पाया जाता है तो उसे अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा। जांच में संक्रमण की पुष्टि नहीं होने की स्थिति में यात्री को सात दिन तक गृह पृथक-वास में रहना होगा। बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने बुधवार को शहर के हवाई अड्डे पर उतरने वाले सभी घरेलू यात्रियों की आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट अनिवार्य कर दी है जो 72 घंटे से अधिक पुरानी नहीं होनी चाहिए और उसमें व्यक्ति के संक्रमित नहीं होने की पुष्टि होनी चाहिए। इससे पहले एक स्वास्थ्य बुलेटिन में बताया गया कि महाराष्ट्र में उच्च जोखिम वाले देशों के अब तक छह यात्रियों में कोरोनावायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है।      

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.