Thursday, Apr 09, 2020
coronavirus epidemic kejriwal govt delhi school student study from home

कोरोना वायरस: बच्चों को घर से ही शिक्षा देने की तैयारी में केजरीवाल सरकार

  • Updated on 3/19/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। शिक्षा निदेशालय द्वारा जारी आदेशों से दिल्ली (Delhi) के सभी स्कूल 31 मार्च 2020 तक कोरोना वायरस (Coronavirus) की रोकथाम के मद्देनजर बंद किए गए हैं। इन आदेशों के अनुसार 1 अप्रैल 2020 से स्कूलों में फिर से सामान्य शिक्षा कार्य होना है। अभी तक परीक्षाएं चलने के कारण इस अवधि में बंद स्कूलों से बच्चों की पढ़ाई का कोई खास नुकसान नहीं हुआ है, लेकिन आने वाले दिनों में यदि स्थिति सामान्य नहीं होती है तो स्कूलों की छुट्टियां बढ़ाई जा सकती हैं।

ऐसे में दिल्ली सरकार के उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने दिल्ली शिक्षा निदेशालय के उच्चाधिकारियों की एक बैठक बुलाई है। जिसमें यह तय किया जाएगा कि लंबे समय तक स्कूलों के बंद रहने पर बच्चों की पढ़ाई का होने वाले नुकसान को कम से कम रखने और पढ़ाई को घर पर ही जारी रखने के क्या विकल्प हैं? वर्तमान परिस्थिति की समीक्षा करते हुए उप मुख्यमंत्री ने सभी उच्चाधिकारियों, स्कूलों के प्रधानाचार्य, शिक्षा निदेशालय के शिक्षकों, निजी स्कूलों के प्रतिनिधियों, डीसीपीसीआर और अन्य लोगों की बैठक उपमुख्यमंत्री कार्यालय में 26 मार्च को बुलाई गई है।

कोरोना के चलते वैश्विक मंदी की ओर दुनिया, सिसोदिया ने केंद्र प्रशासन को चेताया

विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लोग होंगे शामिल
इस बैठक में विडियो कॉन्फ्रेंसिंग से भी लोग भाग ले सकते हैं लेकिन कल प्रतिभागी की अधिकतम संख्या 15 होगी। इस बैठक का मूल उद्देश्य ऐसे आइडिया पर विचार करना है जिसके जरिये बच्चों को उनके घर पर ही अभिभावकों की निगरानी में पढ़ाई जारी रखने का अवसर मिल सके।

कोरोना के चलते दिल्ली में बैन होगा IPL, केजरीवाल सरकार ने किया ऐलान

ऑफलाइन न हों परीक्षा से जुड़े शैक्षणिक कार्य
पिछले कुछ सालों से सभी परीक्षा से जुड़े काम जैसे अंकों को चढ़ाना, बोर्ड शीट तैयार करना और रिजल्ट की घोषणा करना सभी ऑनलाइन मोड में किया जा रहा है। अकादमिक सत्र 2019-20 में शिक्षा विभाग द्वारा उपलब्ध कराए गए टैबलेट्स द्वारा तैयार की गई है। इतना ही नहीं जो छात्र अवॉर्ड पाए हैं उनकी सूची भी हाथ से नहीं कम्प्यूटर से निकालकर तैयार की गई है। जिसके लिए रेगुलर व अतिथि शिक्षकों को ऑनलाइन शैक्षणिक काम करने के लिए टैबलेट मुहैया कराए गए हैं।

Corona Virus: दिल्ली में सरकारी कार्यालयों को 1 सप्ताह के लिये बंद करने की उठी मांग

सभी दस्तावेजी प्रक्रिया डिजिटल मोड में
शिक्षा निदेशालय की जानकारी में आया है कि कुछ सरकारी स्कूल अभी भी सारा काम हाथ से कर रहे हैं। इन सभी स्कूलों को भी अवार्ड लिस्ट, रिजल्ट रजिस्टर, ब्रॉड शीट आदि बनाने में काफी लंबा समय लग जाएगा। इस संदर्भ में सभी स्कूल प्रमुखों को निर्देश दिए गए हैं परीक्षा के बाद सभी दस्तावेजी प्रक्रिया डिजिटल मोड में होगी। हालांकि इन सभी डिजिटल दस्तावेजों का भविष्य के इस्तेमाल के लिए प्रिंट निकाल लिया जाए। इस बात को स्कूल के शिक्षकों को भी बताया जाए कि अब स्कूल में रिजल्ट रजिस्टर, अवार्ड लिस्ट, ब्रॉडशीट शिक्षक ऑफलाइन तैयार नहीं करेंगे।

comments

.
.
.
.
.