Wednesday, Mar 03, 2021
-->
coronavirus germany demanded damages in the country to china corona in world prshnt

Corona: दुनिया भर में बढ़ रही चीन के प्रति नाराजगी, जर्मनी ने मांगा नुकसान का हर्जाना

  • Updated on 4/21/2020

नई दल्ली/ टीम डिजिटल। दुनिया भर में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) को फैलाने वाले देश चीन पर जर्मनी के सबसे बड़े अखबार बिल्ड ने 13 हजार करोड़ पाउंड का दावा किया है। यह दावा कोरोना की वजह से जर्मनी में लोगों को हुए नुकसान की भरपाई के एवज में किया गया है। जर्मनी के अखबार के द्वारा किए गए दावे में कहा गया है कि महामारी की वजह से जर्मनी को भारी नुकसान हो रहा है, इसके साथ ही जर्मनी भाषा में वर्ष 1952 से प्रकाशित हो रहे बिल्ड अखबार ने नोटिस जारी किया और उन सभी नुकसान और खर्च का ब्यौरा दिया गया है, जिन्हें जर्मनी ने कोरोना महामारी के कारण उठाया है।

Coronavirus: सिविल कर्मचारियों की PM मोदी ने की तारीफ, कहा- जंग में निभा रहे अहम भूमिका

जर्मनी को कोरोना से हुआ नुकसान
अखबार में दिए ब्यौरे के अनुसार 2700 करोड़ों यूरो का नुकसान देश के पर्यटन उद्योग को हुआ है। वहीं 10 लाख यूरो प्रति घंटा नुकसान जर्मनी एयरलाइंस को हो रहा है, वहीं 5,000 करो यूरो का नुकसान जर्मनी के छोटे उद्योगों को हुआ है। बिल्ड ने बताया है कि जर्मनी की जीडीपी अगर 4.2 प्रतिशत गिरती है तो इसकी वजह से 1784 यूरो प्रति व्यक्ति बोझ पड़ेगा। इन सभी को लेकर अखबार बिल्ड अखबार ने 17 हजार करोड़ पाउंड का दावा चीन पर किया है।

कई देशों ने चीन से जताई नराजगी
बता दें कि विश्व स्तर पर फैले कोरोना वायरस को लेकर अमेरिका फ्रांस, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया पहले ही चीन के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर कर चुके हैं। इनका मानना है कि चीन में ही इस वायरस का जन्म हुआ और इसने पूरे विश्व को संक्रमित किया है। इसके साथ ही कई संगठनों में देशों ने यह भी आशंका जताई है कि चीन ने कोरोना को प्रयोगशाला में तैयार किया है। जिसके बारे में उसने विश्व समुदाय को समय रहते जानकारी नहीं दी और ना ही चीन ने अपने यहां हो रहे नुकसान के बारे में  विश्व को बताया।

प्यार बना मौत की वजह, खुद प्रेमिका ने प्रेमी को उतारा मौत के घाट, यह था कारण

अमेरिका का चीन को चेतावनी
अमेरिका में इस खतरनाक वायरस से सबसे ज्यादा लोग संक्रमित हैं, अब तक पिछले 24 घंटे में अमेरिका में 1433 लोगों की मौत हो गई है इसी के साथ यहां मरने वालों की संख्या 42 हजार से ज्यादा पहुंच चुकी है। इसको लेकर नाराजगी जताते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी चीन को खामियाजा भुगतने की चेतावनी दे दी है।

वहीं चीन ने अखबार बिल्ड की ओर से आए इस नोटिस नाराजगी जताई है उसका कहना है कि यह जर्मनी के राष्ट्रपति का परिणाम है और उसने अखबार के रुख को विदेशियों के प्रति नफरत करार दिया है।

बता दें कि इस कोरोना वायरस से अमेरिका में अब तक 7,71,214 लोग संक्रमित हो चुके हैं जबकि 41,556 लोगों की मौत हो चुकी है जो कि दुनिया में कोरोना से सर्वाधिक मृत्यु वाला देश हो गया है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

comments

.
.
.
.
.