Sunday, Jun 13, 2021
-->
Coronavirus impact of the lockdown improvement situation in Kerala Karnataka PRSHNT

Coronavirus: लॉकडाउन का दिखा असर, केरल-कर्नाटक में स्थिति में आया सुुधार

  • Updated on 4/24/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश के लगभग हर राज्य में फैल चुके कोरोना (Coronavirus) वायरस की शुरुआत का पहला मरीज केरल में 30 जनवरी को मिला था। जिसके बाद कर्नाटक में इस खतरनाक वायरस से 10 मार्च को पहली मौत हुई थी। उसके बाद दोनों राज्यों में सख्ती अपनाई गई और उसका यह नतीजा रहा कि आज यहां हालात काबू में है और दोनों राज्यों में आंकड़ा 450 के पार नहीं जा सका। बता दें कि 22 अप्रैल को देश में कोरोणा संक्रमण के 84 दिन हो गया है। इन दिनों में सबसे ज्यादा महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के साथ दिल्ली में संक्रमण का भयावह रूप रहा है। इसके अलावा सबसे तेज गुजरात में 34 दिन में ही 2,272 लोग को कोरोना की चपेट में आ गए।

Corona से जंग में आगे आईं 'फर्स्ट लेडी' सविता कोविंद, जुरुरतमंदों के लिए सिले मास्क

महाराष्ट्र में 12 गुणा तेजी से फैला कोरोना
स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़े देखें तो केरल में 84 दिन के अंदर 427 और कर्नाटक में 55 दिन में 425 लोग संक्रमित पाए गए, वहीं महाराष्ट्र की बात करें तो यहां कर्नाटक से 12 गुना तेजी से संक्रमण फैला और आज 6000 के पास लोग संक्रमित हो चुके हैं।

वहीं दिल्ली में कोरोनावायरस का पहला मामला 25 फरवरी को सामने आया था और 58 दिन बाद यहां 2156 लोग कोरोना की चपेट में है।

गुजरात में सबसे तेजी से फैला कोरोना
बता दें कि गुजरात ऐसा राज्य बन गया है, जहां कोरोना का संक्रमण सबसे तेजी से फैला है, यहां 34 दिनों के अंदर ही 2272 लोग संक्रमित हुए। कोरोना वायरस से मृत्यु दर की बात करें तो सबसे आगे महाराष्ट्र है, जहां 14 वे दिन 251 की मौत हो चुकी है, वहीं गुजरात दूसरे नंबर पर है जहां 95 लोगों की मौत अभी तक हुई है, इसके बाद तीसरे नंबर पर मध्य प्रदेश है जहां पर 80 लोग की जान जा चुकी है। अगर औसतन देखें तो महाराष्ट्र में 2.98, गुजरात में 1.3 और मध्य प्रदेश में 0.9% की दर से मौतें हो रही है।

रमजान महीने की आज से हुई शुरुआत, कोरोना संकट के मद्देनजर होगी तैयारियां

केरल की स्थिति में सुधार
राजस्थान भी इस दौड़ में पीछे नहीं है यहां कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 1801 हो चुकी है जो कि 4 राज्यों में आगे हैं तमिलनाडु में 1596, मध्यप्रदेश में 1592, वहीं उत्तर प्रदेश में 1449 संक्रमित मामले हैं।

केरल में कोरोना वायरस से होने वाले संक्रमण में हालात पहले से बेहतर है, जिसमें 427 मरीजों में से 231 मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि 3 लोगों की मौत हुई है। वहीं कर्नाटक में 425 मरीजों में से अभी तक 129 ही ठीक हुए हैं और 17 लोगों की मौत हुई है।

देश में चार राज्यों को तबलीगी जमात के लोगों ने सबसे अधिक प्रभावित किया है, जिसमें उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और तमिलनाडु शामिल है उत्तर प्रदेश की बात करें तो यहां 59 फ़ीसदी तेलंगाना में समिति ने आंध्र प्रदेश में 61 और तमिलनाडु में 80% मामले तबलीगी जमात और मरकज से जुड़े हुए हैं।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

comments

.
.
.
.
.