Friday, May 14, 2021
-->
coronavirus-new-cases-of-corona-increasing-continuously-know-what-is-the-reason-prshnt

Coronavirus: लगातार बढ़ रहे कोरोना के नए मामले, जानें क्या है कारण

  • Updated on 2/27/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में लगातार कोरोना (Coronavirus) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। बीते दो दिन से 16 हजार से ज्यादा नए मामले दर्ज हो रहे हैं और रोजाना होने वाली मौतों की संख्या भी सौ के पार है। वहीं दिल्ली में लगातार चौथे दिन कोरोना के नए मामले में वृद्धि जारी रही। शुक्रवार को कोविड-19 के 256 नए मामले सामने आए, जो 22 जनवरी के बाद एक दिन में सबसे अधिक मामले हैं। विशेषज्ञ कोरोना मामलों में बढ़ोतरी का कारण जांच में कमी, नया स्ट्रेन और टीकाकरण में देरी समेत कई इन्य कारण बताए है। जिससे काबू में आई महामारी एक बार फिर जोर पकड़ने लगा हैं।

वृद्धि की राह पर लौटी भारतीय अर्थव्यवस्था, विकास दर में 0.4 फीसदी बढ़त

तेजी से फैल रहा नया स्ट्रैन
दरअसल दुनिया के कई देशों कोरोना के नए स्ट्रैन तेजी से फैल रहा है। ब्रिटेन में सबसे पहले पहचाने गए वायरस के एक नए संस्करण के भारत में 180 से अधिक मामले दर्ज हो चुके हैं। साथ ही दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील से दुनिया के दूसरे हिस्सों में फैले वायरस के एक और नए संस्करण के भी देश में कई मामले सामने आए हैं। 

कांग्रेस के G-23 समूह की आज जम्मू में होगी बैठक, हाईकमान को देंगे संदेश

नमूनों की जांच में आई कमी
ञभारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के आंकड़ो के मुताबिक, बीते चौबीस घंटों में भी देश में 8,31,807 नमूनों की जांच हुई। देश में अबतक कुल 21,46,61,465 नमूनों की जांच हो चुकी है। वहीं पिछले साल सितंबर में देश हर दिन दस लाख से ज्यादा नमूनों की कोविड-19 जांच की जा रही थी। लेकिन इस साल फरवरी आते-आते देश में जांचे इतनी घट गईं कि हर दिन छह से आठ लाख नमूनों की ही जांच हो रही है। अब भी नमूनों के पॉजिटिव होने की दर 5 प्रतिशत से अधिक बनी हुई है। इससे पता चलता है कि जरूरत से कम जांचें हो रहीं हैं और जितनी जांचें हो रही हैं, उनमें पॉजिटिव केसों की पुष्टि की दर अधिक है।

बंगाल समेत पांच राज्यों में चुनावी तारीखों का ऐलान, जानें- कब, कैसे, कितने चरण में होंगे चुनाव

पांच राज्यों में तेजी से बढ़ कहा संक्रमण
बता दें कि अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञ का कहना है कि दिसंबर-जनवरी में देश में कोरोना संक्रमण घटा, जिसके बाद लोग लापरवाही करने लगे, इस कारण भी अब महाराष्ट्र समेत पांच राज्यों में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ गए हैं। विशेषज्ञों ने कहा कि भारत में संक्रमण घटने के पीछे का एक अहम कारण बहुत बड़ी आबादी के शरीर में कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी विकसित हो जाना रहा होगा। 

ममता ने पूछा- क्या चुनाव तारीखें मोदी, शाह के सुझावों के मुताबिक घोषित की गईं?

आबादी के हिसाब से धीमा टीकाकरण 
ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के आवर वर्ल्ड इन आंकड़ो के मुताबिक अभी तक देश में कुल 1,34,72,643 लोगों को ही टीका लगा है जबकि मार्च के अंत तक देश में 3 करोड़ को टीका लगना है, भारत प्रति सौ लोगों में मात्र एक को टीका लगा रहा। जबकि ब्रिटेन में हर सौ लोगों पर 27 और अमेरिका 19 लोगों को टीका लग रहा है। भारत का लक्ष्य जुलाई तक 30 करोड़ लोगों को टीका लगाना है, जिसमें वह काफी पीछे है। 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.