Friday, Dec 09, 2022
-->
coronavirus new super spreader strain delhi lnjp hospital kmbsnt

दिल्ली: बढ़ रहा कोरोना के नए स्ट्रेन का खतरा! LNJP की नर्सिंग अधिकारी 'सुपर स्प्रेडर' की चपेट में

  • Updated on 1/5/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राजधानी दिल्ली में कोरोना के नए सुपर स्प्रेडर स्ट्रेन (Super Spreader Strain of Corona) का खतरा बढ़ता दिखाई दे रहा है। लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल (LNJP Hospital)  में नए स्ट्रेन से संक्रमित होने मरीजों की संख्या बढ़कर 49 हो गई है।ब्रिटेन आए कोरोना के नए स्ट्रेन मरीजों के देखभाल कर रही एक नॄसग ऑफिसर भी नए स्ट्रेन से संक्रमित हो गई है।

अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉ. सुरेश का कहना है कि सात लोगों में कोरोना के नए स्ट्रेन की पुष्टि की गई है। इन लोगों के सैपल पुणे के वायरोलॉजी लैब और दिल्ली के नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (एनसीडीसी) लैब में भेजे गए थे। अभी कुछ लोगों का सैंपल का रिजल्ट पेंडिंग हैं आने का इंतजार किया जा रहा है। 

डॉक्टरों का कहना है कोविड का यह नया वैरिएंट पुराने वैरिएंट की तुलना में 70 फीसदी तेजी से फैल रहा है ऐसे में अभी वायरस के बारे में जानने की जरूरत है। नया रूप बहुत तेजी से बढ़ रहा है, लेकिन मृत्यु दर पहले की तरह ही है। जिन मरीजों के अंदर नए स्ट्रेन की पुष्टि हुई है उनके अंदर पहले की तरह ही लक्षण देखने को मिल रहे हैं। उनके इलाज में पुराना तरीका ही अपनाया जा रहा है।

अस्पताल में भर्ती कोरोना के नए स्ट्रेन के मरीजों में कोई खास परेशानी नहीं है। किसी-किसी मरीजों को हल्की बुखार और गले में तोड़ी बहुत तकलीफ देखने को मिल रही है। सभी मरीजों को अस्पताल में सामान्य कोरोना मरीजों से अलग रखा गया है। उनके लिए अस्पताल में अलग-अलग कमरे की व्यवस्था की गई है।

मोदी सरकार के महत्वाकांक्षी सेन्ट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर सुप्रीम कोर्ट लेगा फैसला

दिल्ली में नए स्ट्रेन से पीड़ित 19 मरीजों की पुष्टि
राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के पुराने प्रारूप (स्ट्रेन) से राहत जरूर है, लेकिन नए स्ट्रेन का जोखिम बना हुआ है। सूबे में नए स्ट्रेन से पीड़ित मरीजों की तादाद बढ़ रही है, वैसे ही विशेषज्ञों की भी चिंता में इजाफा हो रहा है। हालांकि, कोरोनारोधी टीकाकरण की उम्मीद से भी लोग तनाव मुक्त महसूस करने लगे हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक सूबे में कोरोना के नए स्ट्रेन से पीड़ित मरीजों की तादाद 19 हो चुकी है। इन मरीजों की पुष्टि मंत्रालय के तहत  एनसीडीसी और सीआईएसआर के तहत संचालित आईजीआईबी प्रयोगशालाओं में किया गया है। बताया गया है कि आईजीआईबी प्रयोगशाला में 11 मरीजों के नमूनों की जांच में कोरोना का नया स्ट्रेन मिला है। वहीं एनसीडीसी में 8 मरीजों के नमूने में नया स्ट्रेन पाया गया है। नए स्ट्रेन से पीड़ित सभी मरीजों को लोकनायक अस्पताल में विशेष आइसोलेशन में रखकर उनका उपचार किया जा रहा है। 

किसानों से अहम वार्ता के बीच केजरीवाल ने मोदी सरकार से की अपील

कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन पुराने के मुकाबले अधिक संक्रामक
यहां बता दें कि कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन पुराने के मुकाबले अधिक संक्रामक है। फिलहाल यह अधिक जानलेवा है या नहीं इसके प्रमाण उपलब्ध नहीं हैं। वैज्ञानिक नए स्ट्रेन से संबंधित शोध और अध्ययन में जुटे हैं , ताकि अधिक जानकारी प्राप्त की जा सके। ऐसे में विशेषज्ञों की सलाह है कि लोग कोरोना से संबंधित दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन करें। 

ये भी पढ़ें:

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.