Friday, Sep 30, 2022
-->
coronavirus questions raise china import rapid test kits icmr with bjp modi govt states active rkdsnt

रैपिड टेस्ट किट्स पर उठे सवाल, मोदी सरकार सक्रिय, ICMR ने राज्यों को दिए निर्देश

  • Updated on 4/27/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना संक्रमण के बीच कोविड 19 रैपिड टेस्ट किट्स को लेकर अब कई तरह के सवाल उठने लगे हैं। सवाल हैं कि ये किट्स सही रिपोर्ट नहीं दे रही हैं और घटिया गुणवत्ता की भी हैं। इसके साथ ही खबरें ये भी हैं कि कोरोना जांच के लिए चीन से मंगाई किट्स सरकार को बेहदा ज्यादा दामों पर बेची गई हैं। इन सब आरोपों के बीच केंद्र की मोदी सरकार भी हरकत में आई हैं। 

कोरोना लॉकडाउन के बीच दिल्ली हिंसा को लेकर पुलिस सक्रिय, अब शिफा-उर्रहमान गिरफ्तार

सरकार ने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के जरिए राज्यों सरकार को खरब किट्स लौटाने का निर्देश दिया है। ये किट्स उस कंपनी को वापस लौटाई जाएंगी, जिसने इन्हें बनाया है। बता दें कि जांच रिजल्ट में गड़बड़ी मिलने पर कई राज्यों ने इसके इस्तेमाल रोक दिया है और केंद्र सरकार से मदद की गुहार लगाई है। 

कोरोना संक्रमण को लेकर सीएम केजरीवाल ने दिया दिल्ली की जनता को मोहब्बत का पैगाम

कोरोना संक्रमण को लेकर संघ प्रमुख मोहन भागवत के संबोधन के क्या हैं मायने?

बता दें कि केंद्र सरकार ने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के जरिए 27 मार्च को इन कोरोना किट्स की खरीद का ऑर्डर एक चीनी कंपनी वोंडफो को दिया था। 16 अप्रैल को चीन में भारतीय राजदूत विक्रम मिस्री ने ट्वीट किया था कि चीन से साढ़े 6 लाख किट्स, जिनमें रैपिड एंटीबॉटी टेस्ट और आरएनए एक्सट्रैक्शन किट शामिल हैं, भारत भेजे गए हैं।

महाराष्ट्र में 3 मई के बाद भी जारी रह सकता है लॉकडाउन, मंथन में जुटी उद्धव सरकार

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.