Friday, Jun 18, 2021
-->
coronil claims Controversy Petition filed in Delhi court for filing FIR against Baba Ramdev rkdsnt

बाबा रामदेव के खिलाफ FIR दर्ज करने को लेकर दिल्ली में याचिका दायर

  • Updated on 7/2/2020


नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली की एक अदालत में एक अधिवक्ता ने एक अर्जी दायर कर योग गुरु रामदेव और अन्य के खिलाफ यह दावा करके लोगों को कथित तौर पर धोखा देने को लेकर एक प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध किया है कि उनकी कंपनी पतंजलि ने कोविड-19 का इलाज खोज लिया है। 

हिरासत, मुठभेड़ों में मौत : मानवाधिकार आयोग का जम्मू-कश्मीर प्रशासन को निर्देश

अधिवक्ता तुषार आनंद की ओर से दायर अर्जी में दावा किया गया है कि रामदेव और अन्य व्यक्तियों को ‘‘केवल एक प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली दवा बनाने या उसका उत्पादन करने की अनुमति थी और वे मीडिया में झूठा दावा कर रहे हैं कि उन्होंने कोविड-19 का एक इलाज खोज लिया है।’’ अर्जी शुक्रवार को सुनवायी के लिए आने की उम्मीद है। 

कांग्रेस का आरोप- कोरोना संकट में रेलवे का निजीकरण कर रही है मोदी सरकार

अर्जी में कहा गया है, ‘‘आरोपी व्यक्ति मीडिया का अनुचित लाभ उठा रहे हैं और उन लोगों के समक्ष झूठा दावा पेश कर रहे हैं जो उत्पाद खरीदेंगे, क्योंकि उपरोक्त आरोपी व्यक्ति घातक कोरोना वायरस को ठीक करने का दावा कर रहे हैं।’’ अर्जी में विभिन्न धाराओं के तहत एक प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध किया गया है जिसमें धारा 270, 420 और 504 शामिल हैं।

सुशांत राजपूत सुसाइड मामले की जांच फिल्ममेकर संजय लीला भंसाली तक पहुंची


इसमें कहा गया है, ‘‘इसके तहत आरोपी व्यक्तियों ने जनता को नुकसान पहुंचाने के गलत इरादे से पूर्व नियोजित षड्यंत्र के तहत इस तरह के दुष्प्रचार किए और खुद को गलत तरीके से लाभ पहुंचाने के इरादे से एक ऐसा उत्पाद तैयार किया जिसके लिए उन्होंने कभी भी संबंधित अधिकारियों से कोई लाइसेंस का न तो दावा किया और न ही प्राप्त किया।’’ 

प्रियंका गांधी के लखनऊ में बसने से योगी सरकार की बढ़ सकती हैं मुश्किलें!

 

 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

comments

.
.
.
.
.