Monday, Aug 02, 2021
-->
coronil for corona treatment controversy over coronil baba ramdev response sobhnt

आयुष मंत्रालय के साथ पतंजलि का विवाद हुआ खत्म -बालकृष्ण

  • Updated on 6/24/2020

हरिद्वार/ब्यूरो। पतंजलि योगपीठ की ओर से कोरोना की दवा की लॉन्चिंग के साथ ही शुरू हुआ विवाद खत्म हो गया है। पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण की ओर से ऐसा ही दावा किया गया है। पतंजलि योगपीठ का कहना है कि उन्होंने सारी जानकारी आयुष मंत्रालय को दे दी है। जो कम्युनिकेशन गैप था वह दूर हो गया है। 

कोरोनिल विवाद पर रामदेव का ट्वीट, 'आयुर्वेद से नफरत करने वालों को हाथ लगी निराशा'

मंगलवार को शाम 7 बजे भेजा जवाब
पतंजलि योगपीठ में स्वामी रामदेव और आचार्य बालकृष्ण की ओर से कोरोना किट लांच की गई थी। इसमें कोरोनील टेबलेट सहित 3 दवाएं शामिल थी.मंगलवार को इनकी लॉन्चिंग के साथ ही विवाद भी शुरू हो गया था।केंद्रीय आयुष मंत्रालय ने कहा था कि पतंजलि की ओर से कोरोना की दवा बनाने को लेकर कोई अनुमति नहीं ली गई है। मंत्रालय की ओर से भेजे गए पत्र का पतंजलि योगपीठ में मंगलवार की शाम 7 बजे जवाब भेज दिया था।

हिमाचल में शिक्षा मंत्री ने की घोषणा- Corona काल में स्कूल खोलने की कोई योजना नहीं

आयुष मंत्रालय को दी जानकारी
पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि जितने भी स्टैंडर्ड पैरामीटर्स हैं,उन सभी को फुलफिल किया गया है। इसकी सारी जानकारी आयुष मंत्रालय को दे दी गई है। आयुष मंत्रालय की ओर से बुधवार को एक पत्र पतंजलि योगपीठ को भेजा गया है।जिसमें कहा गया है कि उन्हें सारी जानकारी मिल गई है। 

CM आदित्यनाथ का ऐलान- 26 जून को देंगे 1 करोड़ लोगों को रोजगार, तैयारियां पूरी

फेसबुक पेज पर किया शेयर
मंत्रालय की ओर से इन सभी का अध्ययन किया जा रहा है। आचार्य बालकृष्ण ने इस पत्र को अपने फेसबुक पेज पर शेयर करते हुए आयुष के विवाद की पूर्णाहुति लिखा है। इससे मानकर चला जा रहा है कि पतंजलि योगपीठ और आयुष मंत्रालय के बीच जो विवाद खड़ा हुआ था वह पटाक्षेप की ओर बढ़ चला है।  
 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें-

 

comments

.
.
.
.
.