Sunday, Dec 04, 2022
-->
councilors-wore-stone-garlands-told-to-the-municipal-president

पार्षदों ने पहनी पत्थर की माला : पालिकाध्यक्ष को सुनाई खरी-खरी

  • Updated on 10/2/2021

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। विकास कार्य न होने से खफा पार्षदों ने शनिवार को विरोध का अनूठा तरीका अपनाया। नगर पालिका परिषद कार्यालय के बाहर वह पत्थर की माला पहन कर बैठ गए। समझा-बुझाकर आंदोलन समाप्त कराने आए पालिकाध्यक्ष का पार्षदों ने घेराव कर लिया। इस बीच जमकर हंगामा मचा। काफी देर तक अफरा-तफरी का आलम रहा। जनपद गाजियाबाद के मोदीनगर में नगर पालिका परिषद और पार्षदों के बीच इन दिनों गतिरोध की स्थिति है। शहर में विकास कार्य न होने से नाराज पार्षदों ने मोर्चा खोल रखा है।

वह नगर पालिका कार्यालय के बाहर धरना देकर बैठे हैं। सुनवाई न होने पर पार्षदों ने शनिवार को विरोध का अलग तरीका अपनाया। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती के अवसर पर पार्षदों ने पत्थर की माला धारण कर ली। उन्होंने कहा कि शहर में विकास कार्य चौपट हैं। क्षतिग्रस्त सड़कों का सुधार नहीं किया जा रहा। टूटी-फूटी सड़कों के कारण आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं। शिकायत के बावजूद पालिका परिषद की तरफ से सकारात्मक कदम नहीं उठाए गए हैं। उधर, पालिका अध्यक्ष अशोक माहेश्वरी ने धरनास्थल पर पहुंच कर पार्षदों से वार्ता कर धरना समाप्त करने की अपील की। इससे पार्षद एकाएक उखड़ गए।

उन्होंने पालिकाध्यक्ष का घेराव कर हंगामा शुरू कर दिया। पार्षदों ने आरोप मढ़ा कि पालिकाध्यक्ष की उदासीनता की वजह से नगर पालिका के अधिकारी और कर्मचारी जन-शिकायतों के प्रति गंभीर रूख नहीं दिखाते हैं। उन्होंने साफ कहा कि विकास कार्य शुरू होने तक आंदोलन जारी रहेगा। इस दरम्यान पार्षदों के तीखे तेवरों को देखकर पालिकाध्यक्ष को बैरंग लौटना पड़ा। इस मौके पर पार्षद सुशीला गौतम, आलोक कौशिक, दुष्यंत यादव, सूबे सिंह गुर्जर, वेदपाल चौधरी, बलराज आदि मौजूद रहे। बता दें कि कुछ दिन पहले पूर्व पार्षद लोकेश कुमार ढेडा ने भ्रष्टाचार के खिलाफ मोदीनगर तहसील परिसर में आत्मदाह की कोशिश की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.