Saturday, Jan 22, 2022
-->
court puts ball in center dharma production karan johar court on film gunjan saxena case rkdsnt

फिल्म ‘गुंजन सक्सेना’ मामले में हाई कोर्ट ने गेंद केंद्र, धर्मा प्रोडक्शन, करण जौहर के पाले में डाली

  • Updated on 10/16/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High court) ने फिल्म ‘गुंजन सक्सेना-द कारगिल वार’ (Gunjan Saxena The Kargil War) को थिएटरों में रिलीज करने से रोकने के वास्ते कोई अंतरिम आदेश पारित करने से इनकार कर दिया और केंद्र से कहा कि वह निर्माता और निर्देशक से बात कर फिल्म के विषय संबंधी मुद्दों का समाधान करे। केंद्र ने आरोप लगाया है कि फिल्म में भारतीय वायुसेना की छवि सही ढंग से प्रस्तुत नहीं की गई है और यह बल की छवि को प्रभावित करती है। 

राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली के तहत PFRDA ला सकता है गारंटीशुदा उत्पाद

फिल्म 12 अगस्त को नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई थी और इसके थिएटरों में रिलीज होने की संभावना थी जो कोविड-19 के चलते 6 महीने से ज्यादा समय तक बंद रहने के बाद बृहस्पतिवार को खुल गए। जस्टिस राजीव शकधर ने केंद्र की ओर से पेश अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल संजय जैन से कहा कि वह धर्मा प्रोडक्शन की ओर से पैरवी कर रहे वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे, निर्देशक करण जौहर की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता राजीव नायर तथा नेटफ्लिक्स की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता नीरज किशन कौल सहित दूसरे पक्षों के वकीलों के साथ बैठें और मुद्दे का हल निकालने की कोशिश करें। 

कॉर्पोरेट घरानों ने पार्टियों को दिया 876 करोड़ रुपये का चंदा, भाजपा की झोली भरी

न्यायाधीश ने फिल्म को रिलीज करने से रोकने का आग्रह करने वाली केंद्र की याचिका पर आदेश देने से इनकार कर दिया और कहा कि जो लोग फिल्म देखना चाहते थे, वे पहले ही इसे ओटीटी मंच पर देख चुके हैं। हाई कोर्ट ने कहा, ‘‘कोविड-19 महामारी के समय थिएटरों में फिल्म देखने कौन जाएगा। जो लोग फिल्म देखना चाहते थे, वे पहले ही इसे ओटीटी मंच पर देख चुके हैं।’’ 

तेजस्वी के वादे से भाजपा में मची खलबली, जेपी नड्डा ने की बिहार की जनता से अपील

सभी पक्षों के वकीलों ने न्यायाधीश को पहले फिल्म देखने की सलाह दी जिससे कि दलीलें अधिक स्पष्ट हो सकें। अदालत अब इस मामले पर अगले साल 18 जनवरी को सुनवाई करेगी। साल्वे ने सुनवाई के दौरान कहा कि फिल्म में वायुसेना को गलत तरीके से नहीं दिखाया गया है और अदालत से आग्रह है कि पहले वह फिल्म देख ले। फिल्म वायुसेना की पूर्व फ्लाइट लेफ्टिनेंट गुंजन सक्सेना के निजी जीवन पर आधारित है। अदालत ने केंद्र से कहा कि वह फिल्म के उन ²श्यों की क्लिप प्रस्तुत करे जिनपर उसे समस्या है।     

राफेल डील को लेकर निर्मला सीतारमण पर बरसे प्रशांत भूषण, कहा- झूठीं

 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.