Friday, May 07, 2021
-->
covid19-doctors-accuse-the-modi-govt-of-hypocrisy-warriors-ima-says-they-call-us-warriors-prsgnt

MODI सरकार पर IMA ने लगाया आरोप- डॉक्टर्स कोरोना योद्धा लेकिन शहीद नहीं, यह पाखंड है…

  • Updated on 9/18/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना वायरस से लड़ते हुए अब तक देश में 80 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इन लोगों में वो भी शामिल हैं जिन्होंने कोरोना से बीमार लोगों की मेडिकल सेवाओं द्वारा सहायता की, वो लोग जिन्हे कोरोना वॉरियर्स कहा गया है। 

लेकिन अफ़सोस की बात ये है कि इन कोरोना योद्धाओं की मौत का डेटा सरकार के पास नहीं है। सरकार एक तरफ कोरोना योद्धाओं को सम्मानित करने की बात कर रही है तो वहीं केंद्र के पास कोरोना का इलाज करते हुए मरने वाले कोरोना वॉरियर्स का कोई आंकड़ा नहीं है। 

AIIMS के 10 रेजिडेंट डॉक्टरों को हुआ डेंगू, इलाज के लिए हो रहे परेशान

इतना ही नहीं सरकार इन्हे कोरोना योद्धा कहती है लेकिन उन्हें शहीद कहलाने का दर्जा नहीं दे रही। इस बारे में देश में डॉक्टरों की सबसे बड़ी संस्था इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने मोदी सरकार पर पाखंड करने का आरोप लगाया है। 

आईएमए ने कहा है कि डॉक्टर को सरकार कोरोना योद्धा कहती हैं लेकीन उनकी मौत की गिनती करने की परवाह नहीं करती। वहीँ, गुरुवार को जब संसद में सरकार से इन कोरोना वॉरियर्स की मौत के आंकड़े पूछे गए तो सरकार ने कहा कि उनके पास जान गंवाने वालों या इस वायरस से संक्रमित होने वाले डॉक्टरों व अन्य मेडिकल स्टाफ का डेटा नहीं है।

मास्क नहीं लगाने पर किए गए चालान को चुनौती, हाई कोर्ट ने केंद्र से मांगा जवाब

आईएमए ने कहा कि अब तक कोरोना के कारण 382 डॉक्टरों की मौत हो गई है और संसद में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय कहता है कि ये राज्य का मामला है और उनके पास कोई डेटा नहीं है। वहींम सरकार के इस जवाब पर सीनियर डॉक्टरों ने भी आश्चर्य जताया है। इन डॉक्टरों का कहना है कि ये युद्ध में मारे गए सैनिकों की मौत का डेटा नहीं रखने के समान है।

इस बारे में आईएमए के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर राजन शर्मा ने अपना दुःख जताते हुए कहा कि बड़े दुखी मन से हमने खत लिखा है कि इससे बड़ी कोई विडंबना नहीं हो सकती है कि मेरे डॉक्टर साथी, नर्स, हेल्थ केयर वर्कर्स सारे देश की सेवा में जुटे हुए हैं और अगर हमको स्टेट सब्जेक्ट की तरह बांट दिया जाए तो मेडिकल सिस्टम में  इससे बड़ी विडंबना हो नहीं सकती।’

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.