Sunday, Mar 07, 2021
-->
covid19 rahul gandhi tweet donald trump reaction on hydroxychloroquine pragnt

मोदी- ट्रंप की दोस्ती पर राहुल गांधी का तंज, कहा- मित्रता में नहीं होती जवाबी कार्रवाई

  • Updated on 4/7/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पूरी दुनिया के लिए काल बना कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसे में भारत (India) समेत कई देश के वैज्ञानिक दिन-रात इस बीमारी की काट यानी इलाज ढूंढने में लगे हुए हैं। इस बीच कोरोना के इलाज में प्रभावी हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) की मांग दुनियाभर में तेजी से बढ़ रही है। इस एक दवाई को लेकर भारत और अमेरिका (America) के संबंधों के बीच तल्खी देखने को भी मिली। अब इसी मामले में कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कहा कि भारत को दूसरे देशों की मदद करनी चाहिए, लेकिन सबसे पहले भारतवासियों के लिए सभी दवाइयां उपलब्ध रहनी चाहिए।

मित्रता जवाबी करवाई नहीं होती- राहुल
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मलेरिया की दवा को लेकर 'जवाबी कार्रवाई' वाले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के बयान की पृष्ठभूमि में मंगलवार को कहा कि सरकार दूसरे देशों की मदद करे, लेकिन भारतीय नागरिकों के लिए जरूरी दवाएं उपलब्ध रहनी चाहिए। उन्होंने ट्रंप पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए यह भी कहा कि मित्रता का मतलब जवाबी कार्रवाई नहीं होता है।

दवा देने के बाद Trump ने दिखाई आंंख, बोले- 'अगर नहीं देता भारत तो देते करारा जवाब'

ट्रंप के बयान पर राहुल गांधी का ट्वीट
राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा, ''मित्रों' में प्रतिशोध की भावना? भारत को जरूरत के इस समय में सभी देशों मदद करनी चाहिए, लेकिन जीवनरक्षक दवाएं भारतीय नागरिकों के लिए उचित मात्रा में पहले उपलब्ध होनी चाहिए।

केंद्र सरकार ने लिया बड़ा फैसला, कोरोना से जूझने वाले हर देश को भेजेंगे मलेरिया की दवा

ट्रंप के तीखे बोल
दअरसल, ट्रंप ने भारत से 'हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन' की मांग दोहराते हुए कहा है कि अगर भारत इस दवा की आपूर्ति करता है तो ठीक, वरना हम जवाबी कार्रवाई कर सकते हैं। इससे पहले गत रविवार को ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से फोन पर आग्रह किया था कि भारत अमेरिका को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन उपलब्ध कराए। अमेरिका इन दिनों कोरोना महामारी का सामना कर रहा है। हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का इस्तेमाल मलेरिया के उपचार के लिए होता है। भारत इस दवा का प्रमुख निर्यातक है।

अमेरिकी विशेषज्ञ का दावा, कोरोना के 50% मरीजों में नहीं दिखते संक्रमण के लक्षण

क्या है हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन
बता दें हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन एक ऐसी दवा है जो फिलहाल कोरोना से लड़ने में मददगार साबित हो रही है। असल में यह दवाई मलेरिया से लड़ने के लिए बनाई गई थी मगर कोरोना पर भी इसका अच्छा असर देखा जा रहा है। भारत में यह दवा दुनिया में सबसे ज्यादा बनाई जाती है। फिलहाल कुछ दिनों पहले भारत सरकार ने देश में कोरोना संकट की वजह से इस दवा के निर्यात पर रोक लगा दी थी।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.