Tuesday, May 17, 2022
-->
covid19-the-danger-of-rapid-corona-outbreak-in-festive-season-durga-puja-prshnt

COVID-19: त्योहारी सीजन में बढ़ा तेजी से कोरोना फैलने का खतरा, दुर्गा पूजा पर रोक के लिए याचिका

  • Updated on 10/16/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में लगातार तेजी से बढ़ रहा कोरोना संक्रमण (Coronavirus) थमने का नाम नहीं ले रहा। हर दिन हजारों की संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं। भारत में अब तक 73 लाख 70 हजार से ज्यादा लोग संक्रमत हो चुके हैं। लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए अनुमान है कि बहुत जल्द भारत कोरोना के आंकड़ों में अमेरिका (America) को भी पीछे छोड़ देगा। 

भारत में इस महिने से त्योहारों का सिलसिला शुरू होने जा रहा है और ऐसे में बजारों में लोगों की भाड़ी भीड़ देखने को मिलेगा, लोगों की भीड़ को देखते हुए आने वाले हफ्तों में कोरोना के संक्रमण के बढ़ने का खतरा भी ज्यादा हो गया है। बिहार, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और ओडिशा में दुर्गापूजा एक बड़ा त्योहार है। ऐसे में इन राज्यों में कोरोना के मामले बढ़ने की आशंका ज्यादा है।

कोरोना को लेकर केंद्र पर भड़के राहुल गांधी, कहा- PAK ने वायरस को बेहतर तरीके से संभाला

42 फीसदी से ज्यादा सामुदायिक दुर्गा पूजा समारोहों को अनुमति
कोरोना से बुरी तरह प्रभावित पश्चिम बंगाल में 42 फीसदी से ज्यादा सामुदायिक दुर्गा पूजा समारोहों की अनुमति टीएमसी सरकार ने दी है। उनके लिए राज्य के वित्तपोष से फंड भी जारी किए गए हैं। वहीं मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पहले ही 10 जिलों में 69 दुर्गा पूजा पंडालों का ऑनलाइन उद्घाटन कर चुकी हैं। वह आगे भी पंडालों का ऑनलाइन और ऑफलाइन उद्घाटन करने वाली हैं। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 अक्टूबर को कोलकाता में एक पूजा पंडाल का उद्घाटन करेंगे और लोगों को संबोधित करेंगे।

सिख की पगड़ी खींचने के मामले में घिरी ममता सरकार, बलविंदर की पत्नी देंगी CM ऑफिस के बाहर धरना

दुर्गा पूजा पर रोक लगाने के लिए कोर्ट में जनहित याचिका
कोरोना काल में दुर्गा पूजा पर रोक लगाने के लिए कलकत्ता हाई कोर्ट में एक जनहित याचिका भी दाखिल की गई है। याचिका में कहा गया है कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामले को देखते हुए इस साल पश्चिम बंगाल में पूजा नहीं कराने को लेकर आदेश दिया जाए। याचिका में कहा गया है कि डॉक्टरों ने कहा है कि भीड़-भाड़ की वजह से राज्य में कोरोना वायरस मामले बढ़ सकती है। इसके साथ ही राज्य सरकार को हर दुर्गा पूजा समिति को 50 हजार रुपये देने से भी रोकने को कहा गया। इस पर हाई कोर्ट ने राज्य सरकार से स्पष्टीकरण मांगा है।

बलिया गोलीकांड पर मायावती का योगी सरकार पर हमला, कहा- राज्य में दम तोड़ चुकी है कानून व्यवस्था

केरल का उदाहरण 
बता दें कि हाल में केरल में हुए घटनाओं से ये सामने आ रहा है कि आगे स्थिति कितनी तेजी से बिगड़ सकती है। अगस्त के आखिर में ओणम के 10-दिवसीय फसल उत्सव मनाए जाने के बाद से राज्य में कोरोना के मामलों में पांच गुना तक बढ़ोतरी देखी गई। पहले केरल ऐसे राज्यों की लिस्ट में पहले नंबर पर आता था, जहां कोरोना संक्रमण के सबसे कम केस थे अब जहां कोरोना केस तेजी से बढ़ने लगे हैं। 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.