Monday, Mar 01, 2021
-->
cpcb notice to related agencies to control delhi pollution kmbsnt

दिल्ली में प्रदूषण पर लगाम के लिए संबंधित एजेंसियों को CPCB का नोटिस

  • Updated on 12/10/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण (Delhi Pollution) पर लगाम लगाने के लिए सीपीसीबी (CPCB) ने दिल्ली एनसीआर में निर्माण और विध्वंस गतिविधियों से निकलने वाली धूल के शमन पर नियमों के कड़ाई से अनुपालन के लिए दिल्ली राज्य औद्योगिक विकास निगम, दिल्ली जल बोर्ड, दिल्ली राज्य पीडब्ल्यूडी, डीडीए, सीपीडब्ल्यूडी, डीएमआरसी, एनएचएआई को निर्देश जारी किए हैं।

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) का कहना है कि दिल्ली में प्रदूषण का मुकाबला सभी एजेंसियों को मिलकर करना होगा, तभी दिल्ली के लोगों को इससे राहत मिलेगी। 

बता दें कि राजधानी में प्रदूषण स्तर जहां मंगलवार के मुकाबले कम रहा वहीं अभी भी यह बहुत खराब श्रेणी में ही दर्ज किया गया। बुधवार को औसत एक्यूआई 358 दर्ज किया गया जो कि मंगलवार को 383 था। उम्मीद है कि 11 अथवा 12 दिसम्बर को बरसात के बाद प्रदूषण स्तर में राहत दिखेगी। हालांकि पराली का असर अब न के बराबर है लेकिन जलने के मामले अभी भी दिख रहे हैं।  

अब नहीं जल रही पराली, फिर भी दिल्ली में प्रदूषण क्यों? केंद्र का केजरीवाल सरकार को नोटिस

हवा की नमी में चिपक रहे प्रदूषक तत्व
सफर के वैज्ञानिकों के मुताबिक अभी भी 119 जगह पर पराली जलती दिखाई दी। वैज्ञानिकों ने बताया कि दिल्ली में प्रदूषण की वजह हवा में नमी है और जो प्रदूषक तत्व उठते हैं वह इस नमी में चिपक कर प्रदूषण बढ़ा रहे हैं। सर्दियों के चलते तापमान कम है और उससे नमी बढ़ रही है व कोहरे के कारण प्रदूषण हवा में ही जमा हुआ है।

प्रदूषण पर बोले जावड़ेकर, काबू करन के लिए सरकार सभी संभव प्रयास करेगी

कोहरे के कारण दृश्यता भी कम
धीमी गति की हवाएं चल रही हैं और उम्मीद है कि कल भी हवा की रफ्तार में बहुत बदलाव नहीं दिखेगा। कोहरे के कारण दृश्यता भी कम रही जिससे समस्या और बढ़ी और द्वारका सेक्टर-8, जहांगीरपुरी, विवेक विहार, बवाना, आनंद विहार, डीटीयू सहित कई इलाकों में हवा का स्तर गंभीर व बहुत खराब रहा। सीपीसीबी के वैज्ञानिकों के अनुसार एनसीआर में भी कई शहरों में प्रदूषण स्तर बहुत खराब श्रेणी में दर्ज किया जा रहा है।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.