Monday, Sep 27, 2021
-->
CPI accused Chennithala of leaking information of voters to foreign websites rkdsnt

माकपा ने चेन्नीथला पर वोटरों की जानकारी विदेशी वेबसाइटों को लीक करने का लगाया आरोप

  • Updated on 4/1/2021


नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। केरल में सत्तारूढ़ माकपा ने बृहस्पतिवार को विपक्ष के नेता रमेश चेन्नीथला पर आरोप लगाया कि वह राज्य के मतदाताओं की व्यक्तिगत जानकारी एक विदेशी वेबसाइट को लीक कर रहे हैं। माकपा पोलित ब्यूरो सदस्य एम ए बेबी ने 4.3 लाख मतदाताओं का विवरण चेन्नीथला द्वारा जारी करने के एक दिन बाद यह गंभीर आरोप लगाया है। इन मतदाताओं के नाम वेबसाइट ऑपरेशन ट्वीन्स डॉट कॉम के जरिए मतदाता सूची में कथित तौर पर कई बार आए थे। 

आरएसएस के गढ़ नागपुर में कोरोना का कहर, 60 संक्रमितों की मौत

बेबी ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘यहां तक कि मतदाताओं की व्यक्तिगत सूचना का विश्लेषण किया गया और वेबसाइट पर प्रकाशित किया गया। इसके साथ, सभी व्यक्तिगत जानकारी वेबसाइट द्वारा प्राप्त की गई, जिसका आईपी पता सिंगापुर का है।’’ उन्होंने कहा कि लोगों की तस्वीर के साथ व्यक्तिगत जानकारी एक विदेशी कंपनी को साझा करने की गतिविधि में गंभीर कानूनी मुद्दे शामिल हैं। वाम दल नेता ने सवाल किया कि क्या चेन्नीथला ने इसके लिए किसी व्यक्ति से पूर्वानुमति ली थी। 

यूपी पंचायत चुनाव: गाजियाबाद में 161 ग्राम प्रधानों के निर्वाचन के लिए 15 अप्रैल को वोटिंग

उन्होंने कहा कि इसमें कानून का उल्लंघन हुआ है और कानूनी विशेषज्ञों से विषय की जांच करने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि कथित डबल वोट के मामले में आवश्यक कार्रवाई करना चुनाव आयोग पर निर्भर करता है। सूची में एक ही व्यक्ति के नाम की दो बार प्रविष्टि होने के पीछे एलडीएफ का हाथ होने के चेन्नीथला के आरोप पर बेबी ने पलटवार करते हुए कहा कि मतदाता सूची में गड़बड़ी करने का कांग्रेस का लंबा इतिहास रहा है। 

अंबानी सुरक्षा मामला: NIA ने मुंबई के क्लब पर मारा छापा

चेन्नीथला ने बुधवार को कहा था कि मतदाता सूची की पड़ताल से यह साबित होगा कि छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए राज्य की मतदाता सूची में 4,34,042 से अधिक फर्जी और एक ही व्यक्ति की कई बार प्रविष्टियां हैं। हालांकि, चुनाव आयोग ने केरल उच्च न्यायालय को मंगलवार को बताया था कि उसकी पड़ताल में मतदाता सूचियों में 3,16,671 प्रविष्टियों में केवल 38,586 समान प्रविष्टियों की पहचान हुई।

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

 

comments

.
.
.
.
.