Monday, Aug 02, 2021
-->
CPIM gave financial advice to Modi BJP government regarding compensation for Corona rkdsnt

कोरोना के मुआवजे को लेकर माकपा ने दी मोदी सरकार को आर्थिक सलाह

  • Updated on 6/21/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। माकपा ने सोमवार को कहा कि सरकार को कोविड के कारण जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों की मदद करने के लिए राजकोषीय घाटे के स्तर को बरकरार रखने की चिंता से मुक्त होकर धन की व्यवस्था करनी चाहिए।

कोरोना से मौत पर परिवार को मुआवजे को लेकर मोदी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हाथ खड़े किए 

गौरतलब है कि केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि कोविड-19 से जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों को चार चार लाख रुपये का मुआवजा नहीं दिया जा सकता, क्योंकि यह वित्तीय बोझ उठाना मुमकिन नहीं है और केंद्र तथा राज्य सरकारों की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है।  

बुजुर्ग के वीडियो का मामला : वीडियो कॉन्फ्रेंस से जांच में जुड़ना चाहते हैं Twitter के MD

माकपा ने एक बयान में कहा, ‘‘यह दलील खोखली है कि अनु्ग्रह राशि देने से सरकार पर वित्तीय बोझ पड़ेगा। अगर सरकार संकट के समय राजकोषीय घाटे के स्तर को बरकरार रखने की अपनी चिंता छोड़ दे, तो वह मुआवजे के लिए संसाधन का प्रबंध कर सकती है। त्रासदी के समय वित्तीय प्रबंधन की बात करने का कोई मतलब नहीं है।’’ 

सुप्रीम कोर्ट ने पूछा- क्या पीएम नीत NDMA ने कोरोना मुआवजे पर फैसला किया था?

वामपंथी दल ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी में करोड़ों लोगों की जीविका चली गई और उन्हें बहुत मामूली मदद मिल रही है।     उसने केंद्र सरकार से आग्रह किया कि कोविड प्रभावित परिवारों को आपदा प्रबंधन कानून के प्रावधानों के अनुसार मुआवजा दिया जाना चाहिए।

उत्तर प्रदेश में भाजपा के खिलाफ सशक्त मोर्चा बनाने का प्रयास कर रहे हैं : ओमप्रकाश राजभर


 

comments

.
.
.
.
.