Saturday, May 26, 2018

CPIM बोली- कर्नाटक में हॉर्स ट्रेडिंग के लिए हो रहा है राज्यपाल पद का दुरुपयोग

  • Updated on 5/16/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कर्नाटक विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए भाजपा को वक्त देने के राज्यपाल के फैसले की आलोचना करते हुए सीपीएम ने आज भाजपा पर खरीद फरोख्त में संलिप्त होने का आरोप लगाया। 

भाजपा से लोहा लेने को लोकतांत्रिक जनता दल का होगा गठन, शरद यादव होंगे संरक्षक

सीपीएम ने आरोप लगाया कि कर्नाटक में राज्यपाल के संवैधानिक पद का दुरुपयोग हो रहा है। सीपीएम ने अपने बयान में कहा, 'सीपीएम का पोलित ब्यूरो कर्नाटक विधानसभा में बहुमत हासिल करने के लिए खुलेआम हॉर्स ट्रेडिंग और धनबल के इस्तेमाल के लिए भाजपा को दिए गए समय का कड़ा विरोध करती है।' 

हेगड़े बोले- कर्नाटक में हॉर्स ट्रेडिंग रोकने के लिए फौरन सदन बुलाएं राज्यपाल

बयान में कहा गया है कि इसमें देरी का मतलब होगा कि राज्यपाल के संवैधानिक पद का दुरुपयोग खुलेआम खरीद फरोख्त के लिए वक्त देने के लिए किया जा रहा है। यह सरासर अलोकतांत्रिक है। 

कर्नाटक घमासान को छोड़ छत्तीसगढ़ में चुनावी बिगुल फूकेंगे राहुल गांधी

सीपीएम ने गोवा, मणिपुर और मेघालय विधानसभा चुनावों का जिक्र भी किया, जहां बहुमत नहीं होने के बावजूद संबंधित राज्यपालों द्वारा सरकार बनाने का न्यौता चुनाव बाद के गठजोड़ को देखते हुए भाजपा को दिया गया।

चेतन भगत ने कर्नाटक हॉर्स ट्रेडिंग को बताया आर्ट, लोगों ने की जमकर खिंचाई

सीपीएम ने कहा कि यही सिद्धांत कर्नाटक पर भी लागू होना चाहिए और कांग्रेस और जेडीएस के बीच चुनाव बाद के गठबंधन के पास 224 सदस्यीय विधानसभा में स्पष्ट बहुमत है।

कर्नाटक हॉर्स ट्रेडिंग को लेकर AAP नेता अल्का लांबा का बड़ा ऐलान

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.