युवाओं के असंतोष से मोदी सरकार के खिलाफ गुस्से की ‘सुनामी’ : माकपा

  • Updated on 1/17/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। माकपा ने कृषि संकट से किसानों और बेरोजगारी बढऩे के कारण युवाओं में लगातार फैल रहे असंतोष के लिये केन्द्र की मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने रोजगार के अवसर कम होने और फसल बीमा योजना का लाभ किसानों के बजाय निजी कंपनियों को मिलने संबंधी रिपोर्टों का हवाला देते हुए केन्द्र सरकार के खिलाफ बढ़ते असंतोष को लोगों के गुस्से की ‘सुनामी’ करार दिया। 

कांग्रेस से दिल्ली में गठबंधन पर AAP के गोपाल राय ने हाथ खड़े किए

येचुरी ने बृहस्पतिवार को ट्वीट कर कहा ‘‘सरकार के खिलाफ लोगों के गुस्से की सूनामी लगातार बढ़ रही है, जिसकी वजह लोगों की जिंदगी और आजीविका, खासकर युवाओं के प्रति मोदी सरकार का उदासीन रवैया है।’’

राकेश अस्थाना समेत CBI के 4 अधिकारियों के कार्यकाल में कटौती

फसल बीमा योजना का लाभ किसानों को नहीं मिलने के बारे में येचुरी ने कहा ‘‘मोदी सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना के होते हुये किसान सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, वहीं निजी बीमा कंपनियां इस योजना से लाभ कमा रही हैं और सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। अपने करीबी पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने का मोदी का गुजरात मॉडल पूरी तरह से उजागर हो गया है।’’

भारतीय रेलवे ने हजारों ड्राइवरों एवं गार्ड को दिया बड़ा तोहफा

येचुरी ने कहा कि किसानों को मोदी सरकार ने जानबूझ कर नुकसान में पहुंचाया है और अब यह सरकार कितने भी जुमले और तमाशा कर ले, इस नुकसान की भरपायी मुमकिन नहीं है। उन्होंने कहा कि स्वतंत्र भारत के इतिहास में यह किसी सरकार का अब तक का सबसे उदासीन रवैया रहा है।

केजरीवाल बोले- दिल्ली के लोगों ने रचा इतिहास, अब हरियाणा की बारी है

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.